Friday, March 26, 2021

दगाबाज दुल्हन से सोने-चांदी के गहने, तीन आरोपितों से नकदी और कार बरामद

 


 

 भीलवाड़ा  प्रेमकुमार गढ़वाल। शहर कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़ी दगाबाज दुल्हन से पुलिस ने आभूषण, जबकि साथी आरोपितों से पुलिस ने 23 हजार 200 रुपये और एक कार जब्त की है। सभी 6 गिरफ्तार आरोपितों को पुलिस ने शुक्रवार को अदालत में पेश किया।  
सहायक उप निरीक्षक रामेश्वरलाल तेली ने हलचल को बताया कि प्रतापगढ़ जिले के जौधपुरिया हाल पटेलनगर निवासी हरीसिंह राजपूत से चेतना सौलंकी ने एक महिला सहित तीन लोगों की मदद से शादी की। बदले में इन लोगों ने हरीसिंह से डेढ़ लाख रुपये लिये थे। शादी के दस दिन बाद ही चेतना, हरीसिंह के पटेलनगर स्थित आवास से गहने लेकर रफूचक्कर हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने गुरुवार को  आरोपित दुल्हन देवास, मध्यप्रदेश निवासी चेतना सौलंकी, जौधपुरिया निवासी बंटू सिंह पुत्र लक्ष्मण सिंह राठौड़, नारायण सिंह पुत्र शिवसिंह राठौड़ व ममता बंजारा निवासी देवरान, जबकि देवास के संजय परमार और वीरेंद्र चौहान को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इन सभी को आज बरामदगी और तफ्तीश के बाद पुलिस ने न्यायालय में पेश किया।  

दगाबाज दुल्हन को शादी के बदले मिले 60 हजार 
जांच अधिकारी ने बताया कि हरीसिंह से धोखे से शादी करने वाली दगाबाज दुल्हन चेतना को इस शादी के बदले हरीसिंह से वसूले डेढ़ लाख रुपये में से 60 हजार रुपये मिले थे। चेतना ने इस राशि में से 30 हजार रुपये में सोने का एक मंगलसूत्र खरीद लिया था। इस मंगलसूत्र के साथ ही दलेल सिंह के घर से ले गई आर्टिफिशियल मंगलसूत्र, पायजैब और बिछियों की एक जोड़ी पुलिस ने बरामद कर ली। 

तीन आरोपितों से बरामद की राशि और एक कार
पुलिस ने गिरफ्तार आरोपित बंटूसिंह से एक कार और 9 हजार 500 रुपये, नारायण सिंह से 8 हजार 500 रुपये, जबकि ममता बंजारा से 5 हजार 200 रुपये की राशि बरामद की है। बता दें कि पुलिस द्वारा जब्त की बंटूसिंह की कार से ही आरोपित दगाबाज दुल्हन चेतना को शादी करवाने भीलवाड़ा लाये थे। 

दगाबाजी के बाद दुल्हन ने कर लिया प्रेम विवाह
जांच अधिकारी रामेश्वर लाल ने बताया कि हरीसिंह से डेढ़ लाख लेकर शादी करने और दस दिन बाद फरार होने वाली दगाबाज दुल्हन चेतना ने संजय से प्रेम विवाह कर लिया था। हरीसिंह की शादी के दस दिन बाद ही संजय व वीरेंद्र भीलवाड़ा आये थे, जो चेतना को हरीसिंह के घर से बुलाकर अपने साथ ले गये थे। 

नारायण पिता व ममता बनी थी बहन
जांच अधिकारी के अनुसार, पुलिस पूछताछ और तफ्तीश में सामने आया कि हरीसिंह से चेतना की शादी के दौरान नारायण सिंह ने पिता, जबकि ममता ने बहन की भूमिका निभाई थी। 

देवास, नीमच व प्रतापगढ़ पुलिस से मांगा रेकार्ड
कोतवाली पुलिस ने शादी के नाम पर दगा करने के आरोप में गिरफ्तार दुल्हन चेतना के साथ ही संजय, वीरेंद्र का देवास पुलिस से, जबकि ममता का नीमच पुलिस और बंटू सिंह व नारायण सिंह का प्रतापगढ़ पुलिस से रेकार्ड मांगा है। इन सभी थानों की पुलिस को कोतवाली पुलिस ने पत्र लिखा है। 

 

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...