Monday, March 1, 2021

बढ़ते वज़न को कंट्रोल करना चाहते हैं तो नीम का जूस पीएं, जानिए रेसिपी और फायदे


लाइफस्टाइल डेस्क। बढ़ते वज़न से परेशान हैं और जिम में घंटों पसीना बहाने के बाद भी मनचाही बॉडी नहीं मिलती तो परेशान मत रहिए। हम आपको वज़न को कम करने का देसी उपाय बताते है जिसके इस्तेमाल से आप मन चाही बॉडी हासिल कर सकते हैं। औषधीय गुणों से भरपूर नीम ना सिर्फ कई बीमारियों का उपचार करता है बल्कि आपका वज़न भी कंट्रोल में रखता है। नीम का नाम सुनते ही आपके ज़हन में उसकी कड़वाहट का ख्याल आता है तो घबराइए नहीं, नीम की कड़वाहट में उसकी मिठास छुपी है। नीम का इस्तेमाल आप जूस बनाकर कर सकते हैं। नीम का जूस ना सिर्फ वज़न को कंट्रोल करता है बल्कि खून को भी साफ करता है। इससे शरीर में होने वाले किसी भी तरह के संक्रम से छुटकारा पाया जा सकता है।

नीम में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम और आयरन पाया जाता है जो शरीर की कमजोरी को दूर कर हड्डियों को मजबूत बनाता है। नीम के इस्तेमाल से आपकी बॉडी पर किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता। नीम बॉडी को डिटॉक्स करता है, साथ ही शुगर को कंट्रोल भी रखता है। आइए जानते हैं कैसे नींम की पत्तियों का जूस तैयार करें और उसके इस्तेमाल के कौन-कौन से फायदे हैं।

नीम का जूस बनाने के लिए सामग्री:

नीम का जूस बनाने के लिए आपको 1 किलो नीम की पत्तियां, 5 लीटर पानी और ग्राइंडर की जरूरत होगी। 

नीम का जूस बनाने की विधि

इसे बनाने के लिए पानी में नीम की पत्तियों को मिला लें। इन्हें रातभर के लिए भिगो दें। सुबह पत्तियों को पानी के साथ ग्राइंडर में पीस लें। इसके बाद मिश्रण को छान लें। अब इसका हर रोज सेवन करें। आप इस जूस का सेवन पूरे सप्ताह के लिए या फिर हर रोज तैयार कर सकते हैं। 

नींम के इस्तेमाल से होने वाले फायदे

 

  • नीम के पत्ते स्किन से जुड़ी समस्याओं का उपचार करने में मददगार हैं। 
  • बालों में डैंड्रफ और स्कैल्प इरिटेशन का इलाज आप नीम से कर सकते हैं।
  • नीम के पत्तों का जूस पीने से पेट के कीड़ों को कम करने में मदद मिलती है। 
  • दांत के दर्द को कम करने में भी नीम फायदेमंद है
  • नीम का सेवन शरीर में ब्लड को साफ करने में भी मदद करता है।  

टोलनाकों से नहीं गुजरते, चोर रास्तों को चुनते हैं तस्कर

   भीलवाड़ा हलचल।  अफीम, डोडा-चूरा या कोई और मादक पदार्थ। इनकी तस्करी में लिप्त तस्कर मादक पदार्थ परिवहन के दौरान टोलनाकों से नहीं गुजरते। य...