रात में वारदात- ट्रैक्टर एजेंसी के मुनीम से नकदी, गहने, मोबाइल व बाइक लूटी

 


 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। भीलवाड़ा में बीते दो दिन में चार वारदातों को अंजाम देकर लुटेरों ने आमजन में जहां दहशत फैला दी है, वहीं पुलिस भी इन वारदातों को लेकर सकते में हैं। ताजा वारदात शुक्रवार रात पारोली थाना इलाके में हुई, जहां एक ट्रैक्टर एजेंसी पर कार्यरत मुनीम को नकाबपोश तीन बदमाशों ने घेर कर नकदी, गहने और बाइक लूट ली। लूट की इस वारदात से इलाके में दहशत है। उधर, पुलिस ने भी बदमाशों को पकडऩे के लिए जिलेभर में नाकाबंदी करवाई है, लेकिन देर रात तक उनका कहीं कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है। 
पारोली थाना प्रभारी रामपाल विश्नौई ने हलचल को बताया कि कोटड़ी निवासी भैंरूलाल आचार्य शाहपुरा में महिंद्रा ट्रैक्टर एजेंसी पर मुनीम के रूप में कार्यरत है। आचार्य, शुक्रवार शाम साढ़े सात बजे एजेंसी से अपनी नई बिना नंबरी बाइक पर सवार होकर कोटड़ी के लिए रवाना हुआ। 
आचार्य पारोली थाने की सीमा में मालीखेड़ा, बोरड़ा के नजदीक पहुंचा ही था कि सामने से एक बाइक आई। यह बाइक आचार्य को क्रॉस करने के बाद पुन: घूमकर आई। उस पर तीन बदमाश सवार थे, जो नकाबपोश थे। 
इन बदमाशों ने आचार्य की बाइक को रुकवा लिया और इसके बाद धक्का देकर उसे बाइक से नीचे गिरा दिया। इसके बाद बदमाशों ने आचार्य का मुहं दबा दिया। तीनों बदमाशों ने उससे हाथापाई करते हुये गले से रामनामी, कानों से मुरकियां, हाथ से चांदी का कड़ा, 5 हजार रुपये की नकदी, मोबाइल और उसकी नई बिना नंबरी बाइक लूट ली। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों बदमाश, पीडि़त आचार्य को वहीं पटक कर भाग निकले। 
उधर, जैसे-तैसे आचार्य पैदल ही अरनिया पहुंचा, जहां से उसने किसी परिचित से अपने मालिक को फोन करवाया। मालिक ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। इसके बाद कंट्रोल रूम से मिली सूचना पर पारोली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने वारदात की जानकारी लेते हुये जिलेभर में नाकाबंदी करवा दी। देर रात तक पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी रही, लेकिन बदमाशों का कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया। 
बता दें कि इससे एक दिन पहले आसींद में पिस्टल की नौंक पर फाइनेंसकर्मी, शाहपुरा में एक बुजुर्ग को लूट लिया गया। शुक्रवार सुबह प्रताप नगर इलाके में पूर्व सभापति के मुनीम से 18 लाख रुपये लूटने की कोशिश की गई, जबकि रात में बदमाशों ने पारोली क्षेत्र में इस वारदात को अंजाम दिया। लगातार वारदातों से जाहिर है कि भीलवाड़ा में कोई गिरोह सक्रिय है, जो लगातार इस तरह की वारदातों को अंजाम दे रहा है।  

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक