नहीं रहे सावधान तो फिर फैल सकता है कोरोना

 


भीलवाड़ा (हलचल) देश के साथ-साथ प्रदेश में भी कोरोना संक्रमण फिर पांव पसारने लगा है। लेकिन भीलवाड़ा के कोरोना के प्रति बेफिक्र हो चले है, ऐसे में कोरोना फिर दस्तक दे सकता है। जबकि चिकित्सक और अधिकारी लोगों को सावचेत रहने की बार-बार अपील कर रहे है लेकिन इसका असर दिखाई नहीं दे रहा है। बड़े स्तर पर भोज के आयोजन होने लगे है और विभिन्न कार्यक्रमों में भी लोगों की संख्या बेहिसाब रहने लगी है। 
भीलवाड़ा में कोरोना संक्रमण घटने के बाद फिर बढऩे लगा है। उदयपुर की तरह भीलवाड़ा के आवासीय स्कूल में भी छात्रा के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद हड़कम्प मचा है। वैसे आधा दर्जन से ज्यादा मरीज जांच में रोजना सामने आ रहे है। चिकित्सकों की माने तो इनमें से कई गंभीर किस्म के मरीज सामने आ रहे है। ऐसे में चिकित्सकों ने भी लोगों को फिर सावचेत रहने की अपील की है। चिकित्सकों का कहना है कि वे नियमित रूप से मास्क लगायें, बार-बार हाथ धोयें और सामाजिक दूरी बनाये रखें।
जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम.नकाते भी विभिन्न कार्यक्रमों में लोगों से बार-बार यही अपील करते है कि वे कोरोना से सावधान रहे और मास्क का लगातार उपयोग करें। लेकिन शहर में कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों को लोगों ने ताक में रख दिया है। विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों में अब लोगों की संख्या हजारों तक पहुंचने लगी है। छोटे मोटे आयोजनों में सैंकड़ों लोग शामिल हो रहे है। जिनके चेहरे पर मास्क भी पूरी तरह नहीं लगे होते है। ऐसे में संक्रमण का खतरा फिर बढ़ता जा रहा है और लोग सावचेत नहीं रहे तो चिकित्सकों के अनुसार हालात फिर गंभीर हो सकते है। 
चौपाटी हो या भोजनालय खाने पीने के अलावा दुकानों पर भी अब सिर्फ यह पोस्टर बैनर लगे है कि बिना मास्क के यहां नहीं आये लेकिन सब कुछ इसके विपरीत है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक