Wednesday, March 10, 2021

सरपंच और दलाल रिश्वत लेते गिरफ्तार, एएसआई फरार

 कोटा/ एसीबी कोटा शहर की टीम ने मंगलवार को  गेंता सरपंच भवानीशंकर नागर को एक हजार रुपए तथा दो लाख 50 हजार रुपए के चेक लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। वहीं कोटा ग्रामीण के इटावा पुलिस थाने के सहायक उप निरीक्षक रणवीरसिंह के दलाल रामसिंह हाड़ा को 40 हजार रुपए की घूस लेते पकड़ा। ट्रेप की कार्रवाई की भनक लगने के कारण एएसआई फरार हो गया। एक ही फरियादी से दो अलग-अलग मामलों ने आरोपियों ने रिश्वत मांगी थी। एसीबी कोटा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ठाकुर चन्द्रशील ने बताया कि फरियादी विनिप कुमार योगी से गेंता सरपंच भवानीशंकर नागर ने जमीन का इंतकाल खुलवाने तथा उसकी दादी की मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए 2.50 लाख की घूस मांगी थी। एक हजार रुपए तथा 2.50 लाख के चेक लेते हुए गिरफ्तार किया। आरोपी सरपंच 61 हजार रुपए की घूस पहले ही ले चुका था।

मुकदमा रफा-दफा करने के लिए मांगी रिश्वत

एएसपी ने बताया कि फरियादी विनिप योगी के खिलाफ दर्ज पुराने मामले को रफा-दफा करने के लिए इटावा थाने के सहायक पुलिस उप निरीक्षक रणवीसिंह ने तीन लाख की मांग की थी। यह रकम नहीं देने पर उसे गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में करवा दिया। जमानत होने पर विनिप एएसआई रणवीरसिंह से मिला तो उनसे अग्रिम जमानत के लिए 15 दिन का समय देने के लिए 40 हजार रुपए की मांग की और रुपये दलाल रामसिंह को देने को कहा। फरयादी ने इस मामले में एसीबी को परिवाद दिया। गोपनीय सत्यापन में घूस मांगने की पुष्टि होने पर मंगलवार को ट्रेप का आयोजन किया गया। परिवादी मंगलवार को दलाल रामसिंह के गेंता स्थित आवास पर पहुंचा और उसे 40 हजार रुपए लेकर पेंट की जेब में रख लिए। एसीबी ने मौके पर ही उसे दबोच लिया। एएसआई रणवीरसिंह को कार्रवाई की भनक लगते ही वह फरार हो गया। यह कार्रवाई एसीबी के पुलिस उप निरीक्षक नरेश चौहान, चन्द्रकंवर के नेतृत्व में टीम ने की।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...