सुशांत ड्रग्स केस: NCB ने बनाई 30,000 से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट, रिया समेत 33 आरोपी

 

 नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े मादक पदार्थ के मामले में शुक्रवार को यहां एक विशेष अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया। मादक पदार्थों के इस्तेमाल की रोकथाम से संबद्ध एनडीपीएस कानून के तहत गठित विशेष अदालत में दाखिल किए गए 30,000 से ज्यादा पृष्ठों के आरोपपत्र में जब्त किए गए मादक पदार्थ, जुटाए गए विभिन्न साक्ष्यों और अब तक हुई जांच के बारे में विस्तृत विवरण दिया गया है। आरोपपत्र में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक सहित 33 लोगों के नाम हैं। आरोपपत्र में 200 से अधिक गवाहों के बयान भी हैं। NCB ने कहा कि कुल आरोपियों में आठ न्यायिक हिरासत में हैं, जबकि रिया और शौविक समेत बाकी लोगों को जमानत मिल चुकी है। जांच एजेंसी ने कहा कि कई ज्ञात और अज्ञात लोगों के संबंध में जांच जारी है। पिछले साल जांच शुरू होने के बाद विभिन्न प्रकार की ड्रग्स, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और भारतीय तथा विदेशी मुद्रा जब्त की गई। NCB ने कहा कि उपकरणों और मोबाइल फोन का विश्लेषण किया गया तथा मादक पदार्थ की खरीद-बिक्री,सेवन के संबंध में कई सबूत मिले हैं। छानबीन के दौरान जब्त किए गए मादक पदार्थ को रसायनिक जांच के लिए भेजा गया। NCB ने कहा कि छानबीन के दौरान एनडीपीएस कानून की धारा 20 (बी), 22, 23 के तहत चरस और गांजा सहित अन्य ड्रग्स बरामद किए गए। NCB ने कहा कि आरोपपत्र में संलग्न कुछ परिशिष्ट को इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में जमा कराया गया है। आगे जांच में किसी नतीजे पर पहुंचने पर पूरक आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। राजपूत (34) का शव पिछले साल 14 जून को बांद्रा स्थित उनके फ्लैट से बरामद हुआ था। इसके बाद बॉलीवुड में मादक पदार्थ के कथित इस्तेमाल को लेकर जांच शुरू की गई थी। केन्द्रीय एजेंसी ने ‘व्हाट्सएप' पर हुई कुछ बातचीत में मादक पदार्थ का जिक्र किए जाने के आधार पर मामले में जांच शुरू की थी। एनसीबी ने रिया और शौविक सहित कई लोगों को एनडीपीएस कानून के तहत गिरफ्तार किया था।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक