Friday, March 26, 2021

कक्षा एक से पांच तक के बच्चे स्कूल आते मिले तो सम्बंधित सीबीईओ पर होगी कार्रवाई– कलक्टर

चित्तौड़गढ़ (हलचल)। जिला कलक्टर के के शर्मा ने शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अधिकारीयों की बैठक ग्रामीण विकास सभागार में लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में कलक्टर ने कोरोना महामारी रोकथाम को लेकर निर्देशित किया और शिक्षा विभाग की योजनाओं की समीक्षा की। कलक्टर ने बैठक में कहा कि शिकायत मिली है कि कुछ जगहों पर निजी स्कूल कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को स्कूल बुला रहे हैं, जो ठीक नहीं है, अगर ऐसा पाया गया तो सम्बंधित मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी, इसलिए सभी सीबीईओ निरीक्षण कर ऐसे विद्यालयों को पाबंद करें।

जिला कलक्टर ने बैठक में कोरोना महामारी रोकथाम हेतु निर्देशित किया। कलक्टर ने कहा कि स्कूलों में सख्ती से कोरोना वायरस की पालना की जाए। मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का बखूबी ध्यान रखा जाए और यह सुनिश्चित किया जाए की पूरा स्टाफ और बच्चे हैं। कलक्टर ने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि वार्ड कमिटियों को एक्टिव करें, कमिटी के सदस्य सुनिश्चित करें कि कोरोना मरीज़ सभी नियमों का पालन कर रहे हैं या नहीं, इसके अलावा कमिटी के सदस्य व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को कोरोना से बचने के उपाय बरतने हेतु प्रेरित करें, क्योंकि एक जुट होकर ही कोरोना पर जीत हांसिल की जा सकती है।

जिला कलक्टर ने निर्देशित करते हुए कहा की शिक्षा विभाग के अधिकारी अपने प्रयासों से विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता में निरंतर सुधार करते रहें, अध्यापक कैसे पढ़ा रहे हैं इसका मूल्यांकन करते रहें, नामांकन बढाएं और ड्रॉपआउट बच्चों को पुनः स्कूल से जोड़ने की कवायद करें, अगर बच्चा स्कूल नहीं आ सकता है तो उसे ओपन एजुकेशन से जोड़ने का प्रयास करें। जिला कलक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कल्याणी दीक्षित से कहा कि प्राथमिक शिक्षा पर अच्छे से ध्यान दें, क्योंकि प्राथमिक शिक्षा बच्चों की नींव है, यहां गुणवत्ता बहुत जरूरी है, अगर नीव मजबूत होगी तो बच्चे का भविष्य उज्जवल होगा। इसके अलावा जिला कलक्टर ने समस्त योजनाओं में पेंडिंग चल रहे कार्य समय से पूरा करने हेतु निर्देश दिए।

विभिन्न योजनाओं की समीक्षा कर किया निर्देशित

बैठक में उजियारी पंचायत आवेदन प्रविष्टि रिपोर्ट की समीक्षा की गई। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उजियारी पंचायत योजना के तहत जिले के 11 ब्लॉक में कुल 173 चयनित पंचायतें हैं। इसके अलावा जिला कलक्टर ने डीएमएफटी योजना अंतर्गत विद्यालयों के कार्यों की समीक्षा की। पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन में बताया गया कि 3 फेज़ में कुल 305 कार्य स्वीकृत हैं, जिनमें गत माह में 145 कार्य पूर्ण हुए हैं, इस माह 13 कार्य पूर्ण हुए हैं, इसके अलावा पांच कार्य प्रगति पर हैं, तो वहीं भुगतान के अभाव में 113 कार्य बंद हो गए हैं और अब तक 29 कार्य शुरू नहीं हुए हैं।

इसी तरह मुख्यमंत्री जन सहभागिता योजना की भी समीक्षा करते हुए जिला कलक्टर ने निर्देश दिए। स्लाइड शो में बताया कि कुल 5 वर्षों में 542 कार्य स्वीकृत हैं, जिनमें 403 कार्य पूर्ण हुए हैं, इनमें अब तक 125 कार्य शुरू नहीं हुए हैं, तो वहीं 14 कार्यों को किसी कारण से निरस्त कर दिया गया है। बैठक में मिड डे मील योजना की भी समीक्षा की वर्ष 2020-21 में कुल 1830 विद्यालयों में 1,49,939 का नामांकन है। जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि कॉम्बो पैक वितरित करते समय बच्चों के अभिभावकों के ही साइन लिए जाएं।

इस मौके पर जिला कलक्टर ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले सीबीईओ भदेसर सुनील कुमार सालवी, सीबीईओ डूंगला ओमप्रकाश मेनारिया और एपीसी समसा कार्यालय शम्भूलाल सोमानी को सम्मानित किया। इस मौके पर कुछ ही समय में सेवानिवृत्त हो रहे भूपालसागर सीबीईओ रामेश्वर लाल विजयवर्गीय का भी कलक्टर और अन्य अधिकारियों ने सम्मान किया।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) रतन कुमार, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अरुण कुमार दशोरा, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कल्याणी दीक्षित, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शांतिलाल सुथार, पीआरओ प्रवेश परदेशी सहित सभी ब्लॉक के मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मौजूद रहे।

भीलवाड़ा में कोरोना का महाब्लास्ट, 407 नये पॉजिटिव, मांडल, बापूनगर, मांडलगढ़ बने हॉट स्पॉट

   भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा में कोरोना का शनिवार को महाब्लास्ट हुआ है। कोरोना ने पुराने सभी रेकार्ड तोडते हुये अपना रौद्र रुप दिखाया है। शनिव...