Saturday, March 6, 2021

तेजी से वजन बढ़ाने के लिए अपनी डाइट में इन चीज़ों को ज़रूर करें शामिल

 


लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में लोगों की जीवनशैली पूरी तरह से बदल गई है। लोग देर रात तक जगे रहते हैं और सुबह में देर से उठते हैं। वहीं, जंक फ़ूड का अधिक से अधिक सेवन करने लगे हैं और तनाव भरी जिंदगी जीने के आदी हो गए हैं। इनसे न केवल शारीरिक, बल्कि मानसिक सेहत पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। साथ ही कई बीमारियां दस्तक देती हैं। इसके लिए संतुलन जरूरी है। जंक फूड के अधिक सेवन से वजन बढ़ने लगता है। वहीं, अनुचित और अनियमित खानपान से व्यक्ति दुबलेपन का शिकार हो जाता है। अगर आप अपनी डाइट पर ध्यान नहीं देते हैं, तो शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है। इससे शरीर दुबला पतला होने लगता है। अगर आप भी दुबलेपन से परेशान हैं और वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करें-

अंडे रोज खाएं

रोजाना सुबह और शाम में 2-2 अंडे खाएं। अंडा प्रोटीन का प्रमुख स्त्रोत है। इसमें विटामिन-ए, डी, ई पाए जाते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। अंडे के सेवन में आपको जल्द असर दिखेगा।

फलों का जूस पिएं

वजन बढ़ाने का सबसे सरल तरीका जूस है। अगर आप रोजाना एक गिलास जूस पीते हैं तो इससे आपकी सेहत पर अनुकूल प्रभाव पड़ेगा और आप जल्दी मोटे हो जाएंगे।

गेंहू के आटे की रोटी खाएं

एक रोटी में तकरीबन 69 कैलोरीज़ होती है। इसलिए रोजना कम से कम चार रोटियां जरूर खाएं। आप चाहे तो इसे दिन में लंच के समय भी ले सकते हैं।

रोज सैल्मन खाएं

अपनी डाइट में रोजाना सैल्मन के दो पीस जरूर जोड़ें। इससे आपको संतुलित प्रोटीन प्राप्त होगा जो वजन बढ़ाने में सहायक होगा।

मूंगफली का मक्खन

रोजाना सुबह में मूंगफली का मक्खन ब्रेड के साथ खाएं। इससे आपको 192 कैलोरीज़ प्राप्त होगी। इसके साथ ही प्रोटीन भी प्राप्त होगा।

सूखे फल भी खाएं

सूखे फलों को खाने से कैलोरीज़ जल्दी मिलती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो ताजे फलों के अनुपात में सूखे फलों से ज्यादा क्लोरीज़ प्राप्त होती हैं। इसलिए रोजाना सूखे फलों का सेवन जरूर करें।

रोजाना दही जरूर खाएं

रोजाना अपनी डाइट में दही को जरूर जोड़ें। इसके सेवन से 118 कैलोरीज़ मिलती हैं जो कि वजन बढ़ाने में कारगर साबित होता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।