सोने की कीमत जाएगी 1 लाख के पार ? निवेश करने से पहले जान लें ये दस खास बात

 

यदि आप सोना में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो इसकी वर्तमान कीमत पर नजर डालने के साथ साथ आने वाले वर्षों में इसका भाव क्या होगा इसपर नजर जरूर डाल लें. आइए आपको दस प्वाइंट में बताते हैं निवेश को लेकर जानकार क्या कह रहे हैं...

1. यदि आप सोने में निवेश को लेकर सशंकित हैं तो यह खबर आपके लिए खास है. जी हां...असमंजस की वजह से ही 2020 की तुलना में सोने की कीमतें करीब 8,000 रुपये तक नीचे गिर गई हैं.

2. ऐसे में लोगों के मन में सवाल है कि क्या इस समय गोल्ड में इन्वेस्टमेंट करते हैं तो 5 साल बाद फायदा होगा या फिर नुकसान उठाना पड़ेगा.

3. साल 1970 की बात करें तो 10 ग्राम सोने का भाव 184 रुपये था. तब से यदि अब की तुलना करें तो सोने के भाव में 261 गुना इजाफा हुआ है.

4. यदि हम 2016 से आज के कीमत की तुलना करें तब भी बेहतर रिटर्न ही लोगों को मिला है. अगस्त 2016 में 10 ग्राम सोने का भाव 31 हजार रुपये था, जो अब बढ़कर 48 हजार के करीब नजर आ रहा है. यानी पिछ्ले पांच सालों में करीब 56% का रिटर्न लोगों को मिला है.

5. यदि आपको याद हो तो अगस्त 2020 में सोना अपने ऑल टाइम हाई पर था. लेकिन उसके बाद कीमतों में गिरावट होती चली गई. एक वक्त 10 ग्राम सोने का भाव 43 हजार रुपये तक पहुंच गया था.

6. स्पेन के Quadriga Igneo Fund मैनेजर डिएगो परिल्ला की मानें तो अगले तीन से 5 सालों में सोने की कीमत 3000 डॉलर से 5000 हजार डॉलर प्रति आउंस होने की संभावना नजर आ रही है.

7. यदि भारतीय रुपये की बात करें तो पीली धातु की कीमत 78 हजार रुपये से 1,31,00 रुपये के बीच हो सकती हैं.

8. यदि आपको याद हो तो डिएगो परिल्ला ने 2016 में अनुमान लगाया था कि 5 सालों में सोना अपने रिकार्ड स्तर पर नजर आएगी. उनका यह अनुमान पिछले साल सही होता दिखा था.

9. भारत में बाजार के जानकारों की मानें तो जबतक अर्थव्यवस्था पूरी तरह से पटरी पर नहीं आ जाती तब तक सोने से लाभ भविष्‍य में मिलता रहेगा.

10. जानकारों की मानें तो यदि तीसरी लहर नहीं आती है तो सोने में बहुत ज्यादा तेजी की उम्मीद नहीं है.

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !