यूआईटी एक्‍सईएन से छीना 30 लाख तक की फाइलों के निस्तारण का अधिकार

 


भीलवाड़ा । नगर विकास न्यास के नए सचिव अजय कुमार आर्य ने आते अधिशासी अभियंताओं से 30 लाख रुपए के विकास कार्यों की फाइलें स्वयं के स्तर पर निस्तारण करने का अधिकार छीन लिया है। यह अधिकार उन्हें पूर्व कार्यवाहक सचिव महिपाल सिंह ने दिया था। वर्तमान सचिव अजय कुमार आर्य ने 16 अगस्त को आदेश निकाल कर पूर्व सचिव महिपाल सिंह द्वारा जारी आदेश क्रमांक/तकनीकी/2021-22/1196-98 दिनांक 24 जून 2021 को तुरंत प्रभाव से निरस्त कर दिया। उन्होंने अपने आदेश में सभी तकनीकी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सभी विकास कार्यों से संबंधित फाइलें अधीक्षण अभियंता के जरिये ही भेजना सुनिश्चित करें। यानी अब सभी निर्माण की फाइलें एसई संजय माथुर के जरिये
अग्रिम कार्रवाई के लिए सेक्रेट्री के पास जाएगी। यहां से आवश्यक होने पर प्रशासक एवं जिला कलेक्‍टर तक जाएगी। पूर्व सचिव महिपाल सिंह ने 24 जून के आदेश में सभी एक्‍सईएन को शिड्यूल ऑफ पावर (एसओपी) के अनुरूप विकास कार्यों के लिए संबंधित स्तर के तकनीकी अधिकारियों को फाइलें उन्हें प्रदा शक्तियों के अनुसार अपने स्तर पर निस्तारित कर भुगतान के लिए उन तक भेजने का अधिकार दिया था। यानी तब ये फाइलें एसई के पास नहीं जाती थी। अब ये आदेश निरस्त हो जाने से छोटे-छोटे भुगतान की फाइल भी एसई के पास जाएगी। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक