पांच विमानों से अफगानिस्तान से लाए गए करीब 400 लोग, सरजमीं पर पैर रखते ही खुशी से झूमे भारतीय

 

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में बदतर हो रहे हालात के बीच वहां फंसे भारतीय नागरिकों की स्वदेश वापसी के लिए भारत सरकार का कूटनीतिक प्रयास रंग ला रहा है। भारतीय वायुसेना के विमानों के साथ ही अमेरिका और नाटो सेना के विमानों की भी इस कार्य में मदद ली जा रही है। इन सामूहिक प्रयासों से रविवार को चार सौ लोगों को सुरक्षित स्वदेश लाया गया, इनमें 23 अफगानी सिख और हिंदू एवं दो नेपाली नागरिक भी शामिल हैं।

इन चार सौ लोगों में से 232 लोग ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे, कतर की राजधानी दोहा और शारजाह से चार अलग-अलग उड़ानों से लाए गए। इन सभी लोगों को भारतीय वायुसेना और अमेरिकी एवं नाटो सेना के विमानों से काबुल से पहले ही निकाल लिया गया था। जबकि 168 यात्री काबुल से भारतीय वायुसेना के मालवाहक विमान सी-17 ग्लोबमास्टर से हिंडन एयरबेस में उतरे।

रविवार को सबसे पहले कतर की राजधानी दोहा से विमान (उड़ान संख्या 6ई-1702) 14 भारतीय नागरिकों को लेकर पहुंचा। इस विमान के उतरने के करीब 25 मिनट बाद कतर से ही एक और विमान (उड़ान संख्या यूके- 284) से 120 भारतीय पहुंचे। इस विमान से यात्री उतर ही रहे थे कि ठीक पांच मिनट बाद दुशांबे से एयर इंडिया का विमान आइजीआइ के रनवे पर लैंड किया। सुबह पांच बजकर 10 मिनट पर उतरे एयर इंडिया के इस विमान से 94 यात्री आए, जिनमें पांच राजनयिक और नेपाल के दो नागरिक भी शामिल थे। इस विमान के उतरने के करीब आधे घंटे के बाद ही एक और विमान ने आइजीआइ के रनवे पर लैंडिंग की। शारजाह से आए इस विमान में चार भारतीय नागरिक सवार थे।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक