आजादी के जश्न से पहले घाटी को दहलाने का था प्लान, अयोध्या समेत कई शहर थे निशाने पर, 4 आतंकी गिरफ्तार

 

देश के कई शहरों में बड़ी आतंकी घटना की साजिश को नाकाम किया गया है.जहां पाकिस्तान आतंकी साजिशों में लगा हुआ है, वहीं सुरक्षाबल पूरी मुस्तैदी के साथ घाटी से आतंक के सफाए में लगे हुए हैं. सुरक्षाबलों को आजादी के जश्न से पहले एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मंसूबों पर पानी फेरते हुए सुरक्षाबलों ने 4 आतंकियों और उनके सहयोगियों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक, इन चारों का काम देश के अलग-अलग हिस्से में ड्रोन के जरिए सीमा पार गिराए गए हथियारों की खेप को जमा करना था. जिसके बाद ये उन्हें घाटी में एक्टिव आतंकियों तक इस पहुंचाने की योजना बना रहे थे. इनका मकसद 15 अगस्त से पहले जम्मू में व्हीकल बेस्ड IED लगाना और अन्य टारगेट के बारे में जानकारी जुटाना था.

मुंतज़िर मंजूर उर्फ सैफुल्ला प्रिचू पुलवामा का रहने वाला है और जैश का सदस्य है. इसकी गिरफ्तारी सबसे पहले हुई. उसके पास से एक पिस्टल, एक मैगजीन, आठ लाइव राउंड और दो चीनी हैंड ग्रेनेड बरामद हुए थे. इसके साथ ही उसके पास से हथियारों को ले जाने में इस्तेमाल किया जाने वाला ट्रक भी मिला था. इसके बाद जैश के तीन और आतंकवादी सुरक्षाबलों के हत्थे चढ़े. इनमें शामली का रहने वाला इजहार खान उर्फ सोनू खान भी शामिल है.

अयोध्या को दहलाने का भी था प्लान

इजहार खान ने खुलासा किया कि पाकिस्तान में मुनाजिर उर्फ ​​शाहिद के नाम से जैश कमांडर ने उसे अमृतसर के पास से हथियार इकट्ठा करने के लिए कहा था. इन हथियारों को ड्रोन से गिराया जाना था. उसे जैश ने पानीपत तेल रिफाइनरी की टोह लेने के लिए भी कहा. जिसके बाद उसने वहां के वीडियो भी पाकिस्तान भेजे. इसके बाद उससे अयोध्या राम जन्मभूमि की टोह लेने का काम सौंपा गया, लेकिन इस काम को पूरा करने से पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

आईईडी विस्फोट की तैयारी

अन्य आतंकी तौसीफ अहमद शाह है, जिसे शोपियां से गिरफ्तार किया गया है. उसे जैश कमांडर शाहिद और पाकिस्तान में अबरार नाम के एक अन्य जैश आतंकवादी ने जम्मू में घर लेने का काम सौंपा था. इसे उसने पूरा कर लिया गया. इस आतंकी को जम्मू में आईईडी विस्फोट करने के लिए सेकेंड हैंड मोटरसाइकिल खरीदने के लिए कहा गया. इसके लिए एक आईईडी को ड्रोन के जरिए गिराया जाना था. हालांकि इस काम से पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया. जहांगीर अहमद भट इस लिस्ट में अगला नाम है, उसे पुलवामा से पकड़ा गया. वह कश्मीर का फल व्यापारी था जो लगातार पाकिस्तान में जैश के शाहिद के संपर्क में था. उसने इजहार खान को उससे मिलवाया था. वह आगे कश्मीर घाटी और देश के बाकी हिस्सों में जैश के लिए भर्ती कर रहा था.

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना