डाइट में शामिल करेंगे ये 5 आयुर्वेदिक चीज़ें, तो तेज़ी से घटेगी पेट की चर्बी

 


 लाइफस्टाइल डेस्क। अगर आपका काम दिनभर बैठ कर काम करने वाला है, तो ज़ाहिर है आपका वज़न बढ़ रहा होगा। बैठे रहने से पेट की चर्बी बढ़ती है और पेट निकलने लगता है। निकला हुआ पेट तो किसी की भी पर्सनैलिटी पर अच्छा नहीं लगता। साथ ही अच्छे से अच्छे कपड़ों का लुक भी ख़राब हो जाता है।

सभी का लाइफस्टाइल अलग-अलग होता है, लेकिन हमें इसी में वक्त निकालकर खुद को फिट रखने का प्रयास करना होता है। साथ ही डाइट का भी ख़ास ख्याल रखने की ज़रूरत होती है। पेट से चर्बी कम करना आसान नहीं होता, लेकिन अगर आप डाइट में कुछ आयुर्वेदिक चीज़ों को शामिल करेंगी तो खुद को फिट रखने में काफी मदद मिलेगी। तो आइए जानें इन आयुर्वेदिक चीज़ों के बारे में।

1. अलसी के बीज: आपके शरीर के एक्सट्रा फैट को कम करने में असली के बीज काफी असरदार होते हैं। इसमें मौजूद फाइबर आपके मेटाबॉलिज़्म को मज़बूती देता है। रोज़ाना एक चम्मच सुबह खाली पेट इसे गर्म पानी के साथ लें। इसके बाद एक घंटे तक कुछ न खाएं।

2. दालचीनी: कई औषधीय गुणों से भरपूर दालचीनी आपका मेटाबॉलिज़्म बेहतर बनाकर वज़न कम करने और पेट की चर्बी घटाने में मदद करती है। दिन में दो बार गर्म पानी में शहद और दालचीनी मिलाकर पीने से वज़न कम होता है। इसे सुबह, नाश्ते के बाद और फिर रात में सोने से पहले लें।

3. त्रिफला: यह बेहड, हरड और आंवले से मिलकर बनता है। इसके सेवन से न सिर्फ पेट की चर्बी कम होती है बल्कि कब्ज़ से राहत भी मिलती है। रात में सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला को एक कप गर्म पानी में 10 मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद इस पानी को पी लें।

 4. ज़ीरे का पानी: पेट की चर्बी कम करने के लिए ज़ीरे का पानी किसी रामबाण से क नहीं। एक ग्‍लास पानी में दो चम्‍मच ज़ीरा डालकर उसे 10 मिनट तक उबाल लें। इसके बाद आंच से उतारकर इसे ठंडा करें और फिर पी लें। इसे भी रात में सोने से पहले पिएं।

5. आंवला: यूं तो आंवला हमारे शरीर को कई तरह से फायदे पहुंचाता है। इम्यून सिस्टम मज़बूत करने के साथ पेट की चर्बी कम करने में भी आंवला काफी असरदार साबित होता है। ये मेटाबॉलिज़्म में सुधार करके वज़न कम करने में भी असरदार होता है। रोज़ाना नाश्ते में एक आंवला खाएं या इसका जूस पिएं।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक