कॉफी का ज्यादा सेवन करते हैं तो जान लीजिए उसके 6 साइड इफेक्ट भी

 


कॉफी सेहत के लिए फायदेमंद होती है। सुबह-सुबह कॉफी का सेवन करने से ना सिर्फ एनर्जी मिलती है बल्कि नींद भी भागती है। कॉफी सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाती है। कॉफी दिल को सेहतमंद रखती है, साथ ही सुस्ती भी भगाती है। यह पाइल्स, दस्त और सिरदर्द का भी इलाज करती है। कॉफी का कम मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद है।

जिंदगी की मसरूफियत के बीच लोग थोड़ा रिलेक्स पाने के लिए हर बार ब्रेक में कॉफी पीकर अपनी सुस्ती दूर करते हैं। किसी भी चीज़ का सीमित इस्तेमाल फायदेमंद है, लेकिन उसका अत्याधिक इस्तेमाल आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक दिन में 3-4 कप कॉफी पीना पर्याप्त है, इससे ज्यादा कॉफी का सेवन आपको बीमार बना सकता है। ज्यादा कॉफी पीने से आपकी सेहत पर इसके साइड इफेक्ट होने का खतरा अधिक रहता है। आइए जानते हैं कि ज्यादा कॉफी पीने से कौन-कौन से साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

दिल की सेहत बिगाड़ सकती है कॉफी:

3-4 कप से ज्यादा कॉफी का सेवन करने से आपके दिल की सेहत को खतरा हो सकता है। कॉफी में मौजूद कैफीन हार्ट रेट बढ़ाता है, जिससे आपको घबराहट हो सकती है। ज्यादा कॉफी दिल की बीमारियों का जोखिम बढ़ाती है।

किडनी स्टोन कर सकती है कॉफी: 

ज्यादा कॉफी का सेवन करने से किडनी की सेहत भी प्रभावित होती है। काफी में मौजूद ऑक्सलेट खून में मौजूद कैल्शियम के साथ जुड़कर कैल्शियम ऑक्सलेट बनाता है, जिससे किडनी स्टोन की समस्या होती है। 

नींद को प्रभावित करती है:

कॉफी में कैफीन की मात्रा अधिक होती है। ज्यादा कॉफी दिमाग के लिए उत्तेजक का काम करती है, जिससे नींद नहीं आती है। नींद की कमी आपके मिजाज़ को भी प्रभावित करती है। आपका मिजाज़ चिड़चिड़ा और गुस्सेल बनता है।

याददाश्त को प्रभावित करती है:

कॉफी का ज्यादा सेवन मस्तिष्क को भी प्रभावित करता है। ज्यादा कॉफी पीने से डिमेंशिया और स्ट्रोक जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। 

पाचन खराब करती है:

ज्यादा कॉफी का सेवन करने से पाचन बिगड़ सकता है, आप गैस, एसिडिटी और अपच के शिकार हो सकते हैं। दिन में 3-4 कप से ज़्यादा कॉफी पीने से पेट में एसिड बढ़ जाता है और डिहाइड्रेशन की समस्या भी हो सकती है।

हड्डियां कमजोर करती है कॉफी:

दिन में 2-3 कप से ज्यादा कॉफी पीने से हड्डियां कमजोर होती है। कॉफी का ज्यादा सेवन ऑस्टियोपेरोसिस का खतरा बढ़ा सकता है। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक