बुधवार को करें ये 7 उपाय, गणपति सभी समस्याओं का करेंगे समाधान

 


पंचांग के अनुसार सप्ताह के सातों दिन किसी न किसी देवी-देवता की पूजा की जाती है। इसी तरह बुधवार के दिन भगवान गणेश को समर्पित किया गया है। धार्मिक मान्यता के अनुसार, भगवान गणेश को प्रथम पूजनीय माना जाता है। किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है। गणेश की कृपा से व्यक्ति के जीवन में सुख, शांति, खुशहाली और वैभव का आगमन होता है। बुधवार के दिन गणेश पूजा के साथ-साथ अन्य कई उपाय को अपनाना चाहिए जिससे जीवन में खुशहाली मिल सके। आइये जानते हैं भगवान गणेश को प्रसन्न करने के साथ-साथ कौन से उपाय अपनाने चाहिए।

1. बुधवार के दिन हरें रंग का विशेष महत्व माना गया है। इसीलिए इस दिन हरे रंग का कपड़ा पहनना चाहिए परंतु अगर ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो कम से कम हरे रंग का रुमाल ही जेब में रख लेना चाहिए।

2. बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा में दूर्वा का इस्तेमाल और प्रसाद में मोदक चढ़ाने से भगवान गणेश बहुत अधिक प्रसन्न होते हैं। इससे जीवन के सभी समस्याओं का निदान होता है।

3. बुधवार के दिन गणेश जी को विशेष रूप से सिंदूर चढ़ाना चाहिए। इससे व्यक्ति के सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं और खुशियों का आगमन होता है।

4. बुधवार के दिन गणेश रुद्राक्ष धारण करने से मेहनत का पूर्ण फल प्राप्त होता है। इससे जीवन में आने वाली सभी बाधाओं और समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

5. बुधवार के दिन से लगातार 7 बुधवार को समीप के किसी गणेश मंदिर जाकर गुड़ का भोग लगाना चाहिए। इससे गणेश जी की कृपा भक्तों पर होती हैं। 

6. बुधवार के दिन भगवान गणेश को मूंग के लड्डुओं का भोग लगाना चाहिए। रूके हुए कार्य शीघ्रता से संपन्न हो जाते हैं। 

7. बुधवार के दिन घर से निकलते हुए सौंफ जरूर खाकर निकले, इससे शुभ कार्य या रूके हुए कार्य जरूर पूर्ण हो जाते हैं। 

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक