हरि‍याली अमावस्या पर त्रिवेणी, जोगणिया माता व सांवलिया जी मंदिर रहेंगे बंद

 

भीलवाड़ा। पवित्र महीने सावन में अच्छी बारिश से धरती पर हरियाली छा गई है। धार्मिक, ऐतिहासिक व पर्यटक स्थलों का प्राकृतिक सौंदर्य में और  खार आ गया है। हरियाली अमावस्या रविवार को है। इस दिन हजारों लोग भोलेनाथ की भक्ति और हरियाली का आनंद लेने के लिए विभिन्न धार्मिक व पर्यटक स्थलों पर जाते हैं। शहर में ही हरणी महादेव मंदिर, चामुंडा माता, स्मृति वन, पुर स्थित अधरशिला महादेव, पातोला महादेव, क्‍यारा का बालाजी, घटारानी माताजी, मेजा बांध, लेटे हनुमान जी कारोई सहित आसपास के धार्मिक व पर्यटन स्थलों पर जाते हैं। प्रमुख धार्मिक स्थल बीगोद के पास स्थित त्रिवेणी संगम, मेनाल का झरना, जोगणिया माता, धोड़ेश्वर महादेव, तिलस्वां महादेव सहित और भी कई स्थान है, जहां दिनभर मेले सा माहौल रहता है। इस बार कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका के कारण भीलवाड़ा व चित्‍तौडग़ढ़ प्रशासन सख्‍त है। आज व कल त्रिवेणी संगम मंदिर पर हर प्रकार की आवाजाही बंद रहेगी। बीगोद थाना प्रभारी जसवंत सिंह ने बताया कि मंदिर परिसर व नहाने पर पूर्णतया रोक रहेगी। वहां पर पुलिस बल तैनात रहेगा। चित्‍तौडग़ढ़ प्रशासन ने मेनाल, जोगणिया माताजी शक्ति पीठ तथा प्रसिद्ध सांवलिया जी मंदिर मंडफिया को भी दो दिन के लिए बंद कर दिया है। वहां आमजनों को प्रवेश नहीं मिलेगा। हालांकि इन धार्मिक स्थलों पर नियमित सेवा-पूजा चालू रहेगी।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक