सावन शिवरात्रि होती है विशेष, जानें तारीख, शिव पूजा मुहूर्त एवं पारण समय

 

भगवान शिव के प्रिय मास सावन या श्रावण का प्रारंभ 25 जुलाई दिन रविवार से हो चुका है। सावन का हर दिन भगवान शिव की आराधना के लिए उत्तम और श्रेष्ठ होता है। आप प्रत्येक दिन विधि विधान से भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा कर उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं। सावन माह में सावन सोमवार व्रत हो या फिर मंगला गौरी व्रत दोनों ही शिव और शक्ति का आशीष प्राप्त करने का साधन है। यदि आप किन्हीं कारणों से इन व्रतों को नहीं कर पाते हैं, तो आपको निराश होने की जरुरत नहीं है, आप सावन शिवरात्रि का व्रत रख सकते हैं। सावन शिवरात्रि व्रत का भी विशेष महत्व होता है। सावन शिवरात्रि के दिन व्रत रखते हुए आप भगवान शिव की विधिपूर्वक पूजा करें और उनकी कृपा का लाभ उठाएं। आइए जानते हैं कि सावन की शिवरात्रि कब है, उस दिन पूजा का क्या मुहूर्त है और पारण समय क्या है?

सावन शिवरात्रि 2021 तिथि

 मासिक शिवरात्रि हर मास की चतुर्दशी तिथि का मनाई जाती है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, सावन माह के चतुर्दशी तिथि का प्रारंभ 06 अगस्त दिन शुक्रवार को शाम को 06 बजकर 28 मिनट पर हो रहा है। इसका समापन अगले दिन 07 अगस्त दिन शनिवार को शाम 07 बजकर 11 मिनट पर होगा। शिवरात्रि को रात्रि पूजा का महत्व होता है, इसलिए सावन शिवरात्रि 06 अगस्त को है।

सावन शिवरात्रि 2021 पूजा मुहूर्त

सावन शिवरात्रि को निशिता काल पूजा का समय देर रात 12 बजकर 06 मिनट से देर रात 12 बजकर 48 मिनट तक है। पूजा का कुल समय 43 मिनट है। इसके अलावा भी सावन शिवरात्रि पूजा के मुहूर्त हैं, जो नीचे दिए गए हैं। रात्रि प्रहर के अनुसार हैं।

1. शाम को 07 बजकर 08 मिनट से रात 09 बजकर 48 मिनट तक।

2. रात 09 बजकर 48 मिनट से देर रात 12 बजकर 27 मिनट तक।

3. देर रात 12 बजकर 27 मिनट से तड़के 03 बजकर 06 मिनट तक।

4. 07 अगस्त को तड़के 03 बजकर 06 मिनट से प्रात: 05 बजकर 46 मिनट तक।

सावन शिवरात्रि 2021 पारण समय

जो लोग सावन शिवरात्रि का व्रत रखेंगे, वे पारण अगले दिन करेंगे। सावन शिवरात्रि का व्रत 6 अगस्त को रखा जाएगा और पारण 07 अगस्त को होगा। पारण आप 07 अगस्त को प्रात: 05 बजकर 46 मिनट से लेकर दोपहर 03 बजकर 47 मिनट के मध्य कभी भी कर सकते हैं।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

 

    Popular posts from this blog

    भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

    सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

    वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक