जगतगुरु तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज ने बताई एक शिष्य की आधीनता"

 


आमेट(राजसमंद)
        ऐसे शिष्य उपदेशहिं पाई। होय दिव्य दृष्टि पुरूषपै जाई।। अर्थात भक्ति मुक्ति ट्रस्ट ,सतलोक आश्रम बरवाला के संचालक जगतगुरु तत्वदर्शी  संत रामपाल  महाराज ने शास्रविधि अनुसार सत्संग के माध्यम से बताया कि उपरोक्त विधि से गुरुजी के सामने विनम्रतापूर्वक प्रश्न करने तथा समर्पित भाव से दीक्षा प्राप्त करके भक्त दिव्य दृष्टि अर्थात् अलौकिक ज्ञान रुपी दृष्टि प्राप्त करके सत्यलोक में जाने का हरदम उद्देश्य रखकर भक्ति करता हुआ परमेश्वर के पास चला जाएगा। सतलोक प्राप्ति के बाद किसी भी मनुष्य का जन्म मरण नही होता ।अतार्थ पूर्ण मोक्ष की प्राप्ति कर लेता है ।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

कार खड़े ट्रक से टकराई भीलवाड़ा के एक ही परिवार के तीन लोगों सहित 4 व्यक्तियों की मौत

VIDEO आसींद में युवक से मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी का प्रयास, बाजार बंद, दो के खिलाफ रेप का मामला दर्ज

फार्म हाउस पर छापा, भीलवाड़ा -चित्तौड़गढ़ जिले के 31 जुआरी गिरफ्तार सात लाख से ज्यादा की नकदी बरामद