बरसात के मौसम में डेट पर जाने के लिए राजस्थान की ये जगहें हैं परफेक्ट

 

लाइफस्टाइल डेस्क। इतिहास के पन्नों में राजस्थान का नाम सुनहरे अक्षरों में अंकित है। राजस्थान को वीरों की भूमि कहा जाता है। आज भी राजस्थान के लाल महाराणा प्रताप और रानी पद्मावती की कथा गर्व से सुनाई जाती है। यह प्रदेश अपनी ऐतिहासिक धरोहर के लिए जाना जाता है। इस प्रदेश में कई पर्यटन स्थल हैं, जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। खासकर विदेश पर्यटक अपनी यात्रा की शुरुआत राजस्थान से ही करते हैं। हर साल सभी मौसम में पर्यटक राजस्थान घूमने आते हैं। अगर आप भी बरसात के मौसम में डेट पर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो राजस्थान की ये जगहें सबसे परफेक्ट हैं-

बूंदी

अगर आप कम बजट में डेट पर जाना चाहते हैं, तो बूंदी की यात्रा करें। बारिश के मौसम में बूंदी की खूबसूरती देखने लायक रहती है। इस मौसम में इंद्रधनुष अपनी छंटा बिखेरता है और मोर नृत्य कर समां को सुहाना कर देता है। इसके लिए बूंदी को डेट के लिए परफेक्ट डेस्टिनेशन कहा जाता है। आप बारिश की बूंदों में अपने पहले प्यार का इजहार कर सकते हैं।

अलवर

दिल्ली से अलवर की दूरी महज 150 किलोमीटर है। बरसात के मौसम में घूमने के साथ डेट पर जाने के लिए अलवर बेस्ट डेस्टिनेशन बन सकता है। काफी संख्या में पर्यटक अलवर घूमने आते हैं। अगर आप अपनी पहली डेट को यादगार बनाना चाहते हैं, तो अलवर जरूर जाएं। बारिश के बाद अलवर शहर की खूबसूरती देखने लायक रहती है।

बांसवाड़ा

 मानसून के दिनों में बांसवाड़ा की खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं। इस शहर में कई झील हैं। बारिश के दिनों में झीलों में पानी भर आता है। इस मौसम में काफी संख्या में पर्यटक बांसवाड़ा आते हैं। अगर आप पहली डेट पर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो बांसवाड़ा जरूर जाएं।

माउंट आबू

पर्यटन स्थलों में माउंट आबू का नाम शीर्ष पर रहता है। काफी संख्या में पर्यटक माउंट आबू घूमने आते हैं। डेट पर जाने वाले कपल्स के लिए यह परफेक्ट डेस्टिनेशन है। अगर आप बरसात के मौसम में डेट पर जाना चाहते हैं, तो माउंट आबू जरूर जाएं।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक