भीलवाड़ा की सड़कें जख्मी, मांग रही है मरम्मत : लोग झेल रहे है दर्द

 


भीलवाड़ा (विजय गढ़वाल)। शहर की सड़कों पर दुपहिया वाहन या पैदल चल रहे है तो जरा संभल कर चलें, शहर की सड़कें खड्डों में तब्दील हो चुकी है। ये जख्मी सड़कें आपको दर्द दे सकती है। खुले नाले आपकी जान ले सकते है। संभलकर चलना होगा नहीं तो ...
नगर विकास न्यास और नगर परिषद भीलवाड़ा शहर की सड़कों की तो मरम्मत नहीं करा पा रही है लेकिन बाहरी कॉलोनियों में जहां अभी तक मकान तक नहीं बने है वहां चौड़ी पेवर सड़कें बना दी है। इसके पीछे बड़ा खेल होने की भी चर्चा है। आटूण, पटेलनगर, मांडल, हलेड़ मालोला क्षेत्र के साथ ही शहर के बाहरी क्षेत्रों में चमचमाती सड़कें नजर आ जायेगी जहां निजी कॉलोनाइजर कॉलोनियां बसाने में लगे है। लेकिन शहर की सड़कें खड्डों में तब्दील है। सीवरेज के चलते तो सड़कें बर्बाद हुई है लेकिन अब बरसात में हालात और बिगड़ गये है। 
पिछली बरसात में खराब सड़क के कारण दुपहिया वाहन से उछला बालक नगर परिषद के पिछवाड़े ही नाले में जा गिरा था और अकारण ही मौत का शिकार हो गया। इसके बावजूद न तो सड़कें सुधर पाई है और न ही लाखों रूपए खर्च करने के बावजूद नालों की सफाई हो पाई है।
कलेक्ट्री के बाहर ही सड़कें क्षतिग्रस्त पड़ी है। गली मौहल्लों और कॉलोनियों की सड़कों की हालत तो काफी बदत्तर है। कुछ कदम चलने के बाद खड्डे पर खड्डा पड़ा है। बरसात में इनमें पानी भर जाता है और वाहन चालक चौटिल हो जाते है। छीपा बिल्डिग के पीछे, महाराणा टॉकीज से माणिक्य नगर रोड, पांसल चौराहा व रोड, शास्त्रीनगर, पटेल नगर, द्वारिका कॉलोनी, मिर्ची मण्डी, चपरासी कॉलोनी के साथ ही पॉश कॉलोनी शास्त्रीनगर की सड़कों पर भी कई जगह खड्डे पड़े हुए है। इन खड्डों को मरहम की जरूरत है लेकिन लोगों को लचीले वादों का ही मरहम मिल पाता है। वास्तव में मरहम तो कमीशन में चला जाता है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !