पायलट बनेंगे प्रदेशाध्यक्ष! या मीणा, कटारिया के सिर सजेगा ताज

 

जयपुर,। राजस्थान सत्ता और संगठन में फेरबदल की कवायद के बीच राज्य के कांग्रेसी नेताओं के एक वर्ग ने पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाने को लेकर आलाकमान पर दबाव बनाना शुरू किया है। पायलट को पीसीसी अध्यक्ष बनाने को लेकर आलाकमान के समक्ष लॉबिंग करने वालों में मीणा, गुर्जर और जाट समाज के नेता शामिल हैं । राज्य की राजनीति में इन तीनों जातियों का खासा प्रभाव है। पूर्वी राजस्थान में जहां मीणा और गुर्जर दो दर्जन विधानसभा सीटों पर प्रभाव रखते हैं, वहीं जाट समाज जोधपुर, बीकानेर और जयपुर संभाग की राजनीति को प्रभावित करता है।

वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खेमे की मंशा है कि यदि आलाकमान अध्यक्ष बदलना ही चाहता है तो कार्यसमिति के सदस्य रघुवीर मीणा या राज्य सरकार में कृषि मंत्री लालचंद कटारिया में से किसी एक को यह पद दिया जाना चाहिए । इसी बीच गहलोत ने अपने विश्वस्तों को साफ कह दिया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बिना उनकी मर्जी के राजस्थान को लेकर कोई फैसला नहीं करेंगी । गहलोत लगातार सोनिया गांधी के सम्पर्क में है । राजस्थान फाउंडेंशन के अध्यक्ष धीरज श्रीवास्तव ने पिछले दिनों राज्य की राजनीति को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को रिपोर्ट दी है । श्रीवास्तव पूर्व में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी व प्रियंका गांधी के ओएसडी रहने के साथ ही रायबरेली संसदीय क्षेत्र का जिम्मा संभाल चुके हैं । वह राजीव गांधी फाउंडेशन में भी काम कर चुके हैं ।

पायलट खेमा सक्रिय हुआ

राज्य मंत्रिमंडल में फेरबदल और संगठन में नई नियुक्तियों को लेकर आलाकमान द्वारा की जा रही कसरत के बीच पायलट खेमा सक्रिय हो गया। पायलट खेमे के विधायक रमेश मीणा,मुरारी लाल मीणा,पी.आर.मीणा,इंद्रराज गुर्जर,राकेश पारीक, वेद प्रकाश सोलंकी,दीपेंद्र सिंह शेखावत,हेमाराम चौधरी,रामनिवास गावड़िया और मुकेश भाकर ने पिछले दिनों दिल्ली जाकर संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल,हरियाणा की पीसीसी अध्यक्ष कुमारी शलैजा,प्रभारी विवेक बंसल और प्रदेश प्रभारी अजय माकन से मुलाकात की है । अब यह सभी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात पर विचार कर रहे हैं । दिल्ली यात्रा के दौरान पायलट की प्रियंका गांधी सहित कई नेताओं से मुलाकात की । पायलट का मानना है कि आलाकमान अपने वादे के अनुरूप उनके समर्थकों को सत्ता और संगठन में समायोजित करेगा। पायलट अगले माह से राज्य का दौरा शुरू कर सकते हैं ।

 गहलोत से मिल रहे मंत्री और विधायक

फेरबदल की कसरत के बीच पिछले चार दिन में लगभग सभी मंत्रियों व तीन दर्जन विधायकों ने सीएम से मुलाकात की है । सीएम से मिलने वालों में 3 निर्दलीय विधायक भी शामिल है। सूत्रों के अनुसार इन विधायकों ने गहलोत के विश्वास जताते हुए कहा कि जरूरत पड़ने पर वह सभी दिल्ली जाकर आलाकमान से मुलाकात करने को तैयार हैं । हालांकि गहलोत ने इन विधायकों से सोनिया गांधी में विश्वास रखने की बात कही है। उल्लेखनीय है कि फेरबदल को लेकर पिछले दिनों में माकन तीन दिन तक जयपुर रहे। लेकिन आलाकमान की मंशा के अनुरूप बदलाव करने को लेकर वह गहलोत को नहीं मना सके। आलाकमान ने गहलोत से बात करने के लिए कुमारी शलैजा और कर्नाटक के पीसीसी अध्यक्ष डी.के.शिवकुमार को भी जयपुर भेजा।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक