अंडरब्रिज में पानी भरने से ग्रामीण परेशान

 

मांडल (चन्द्रशेखर तिवाड़ी) बारिश का दौर शुरू हो गया है और नीम का खेड़ा व संतोकपुरा ग्राम पंचायत के गुढ़ा से होकर  कीर खेड़ा, मालीखेड़ा जाने वाले रास्तों पर अंडरब्रिज में पानी भरने से आमजन को आवाजाही में भारी परेशानी होने लगी है।  भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष और वंदे मातरम सेवा संस्थान के महामंत्री कमलेश सिंह गुढ़ा ने बताया कि मांडल क्षेत्र के संतोकपुरा ग्राम पंचायत के गुढ़ा और कीर खेड़ा के मध्य बने हुए रेलवे अंडर ब्रिज में बरसाती पानी भरने से गांव वालों को आने जाने में बहुत समस्या आती है। ठीक इसी प्रकार बलाईखेड़ा मोड़ से नीम का खेड़ा जाने वालों की हालत है। यहां भी रेलवे ने फाटक बंद कर ग्रामीणों के आने जाने के लिए अंडरब्रिज बनाया था लेकिन बरसात के दिनों इसमें पानी भर जाता है जिससे गांव वालों को खासी परेशानी का सामना उठाना पड़ता है।दो पहिया चौपहिया वाहनों को भी निकलने में दिक्कत आती है। गुढा ने बताया कि गुढा कीर खेड़ा माली खेड़ा आदि गांव से  जुड़ा हुआ है और मांडल, भादू, बागोर की तरफ जाने वाले वाहनचालक भी इसी रास्ते का शार्टकट के लिए उपयोग करते हैं। पानी भरने से कीर खेड़ा और माली खेड़ा के ग्रामीणों को भीलवाड़ा अस्पताल में  जाने के लिए करीब 12 किलोमीटर चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। गुढ़ा ने उपखंड अधिकारी डा. पूजा सक्सेना को ज्ञापन देकर बताया कि जल्द ही रेलवे अंडर ब्रिजों से पानी की निकासी करवा कर  ग्रामीणों की समस्या का समाधान किया जाए। ज्ञापन देने वालों में भाजपा युवा नेता किसान मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष जिला उपाध्यक्ष कमलेश सिंह गुड्डा, हिंदू युवा सेना के मांडल तहसील अध्यक्ष किशन लाल कीर, गोपाल कीर, नंद लाल कीर, केशव कीर उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक