दो कांस्टेबलों का कातिल गरासिया मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार पैर में लगी गोली

 

भीलवाड़ा (हलचल) कोटडी और रायला पुलिस थाने के 2 कांस्टेबलों की गोली मारकर हत्या करने के मुख्य आरोपी राजू फौजी के निकट सहयोगी को मुठभेड़ के बाद भीलवाड़ा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है आरोपी   पाबुराम गोरसिया के पैर में गोली लगी है। इस पर ₹100000 का इनाम बताया गया है
जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह 3 बजे भीलवाड़ा पुलिस ने जालोर व बाड़मेर पुलिस की मदद से जालोर के करेड़ा थाना क्षेत्र के भाटीप गांव में इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है। पुलिस ने पाबुराम को चारों तरफ से घेरने के बाद उसे हिरासत में लेने की कोशिश की, लेकिन तस्कर ने पुलिस पर फायरिंग की। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की और इस मुठभेड़ में आरोपी के पैर में गोली लगी, जिससे वह घायल हो गया। पुलिस पाबुराम को जालोर अस्पताल लेकर आई है। कड़ी सुरक्षा के बीच उसका उपचार किया जा रहा है।

दरअसल, भीलवाड़ा पुलिस को सूचना मिली थी कि पाबुराम अपने ननिहाल जालोर जिले के भाटीप गांव आया हुआ है। इस पर भीलवाड़ा, जालोर व बाड़मेर की पुलिस गांव पहुंची और घेराबंदी की। पुलिस ने आरोपी को सरेंडर करने का बोला। इस पर तस्कर ने पुलिस पर फायर शुरू कर दिए। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ में तस्कर घायल हो गया। बताया जा रहा है कि अस्पताल से डिस्चार्ज करने के बाद उसे भीलवाड़ा लाया जाएगा।

एसपी विकास शर्मा ने बताया कि भीलवाड़ा पुलिस की ओर से पिछले लंबे समय से जालोर के अलग-अलग क्षेत्रों में नजर रखी हुई थी। जहां पाबुराम छिप सकता था। भाटीप गांव में उसका ननिहाल है। यहां भी पुलिस की नजर थी। शुक्रवार रात को पाबुराम अपने ननिहाल आने की सूचना थी। जिसके बाद पुलिस ने शनिवार तड़के उसे चारों तरफ से घेर लिया। एसपी शर्मा ने अपनी पूरी टीम को इस सफल ऑपरेशन के लिए बधाई भी दी है।

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक