सेब के बराबर वजन का बच्चा, जिसे देख डॉक्टर भी हुए थे हैरान, अब उसी की क्यों कर रहे जमकर तारीफ

 

सिंगापुर. कोरोना महामारी के बीच सेब के वजन की एक बच्ची पैदा हुई। वजन करीब 212 ग्राम। करीब एक साल तक डॉक्टर्स की देखरेख में रहने के बाद अब उसे घर जाने की अनुमति दी गई। मामला सिंगापुर का है। बच्ची की नाम क्वेक शू शुआन है। जून में उसका जन्म हुआ था। तस्वीरों में देखें, कैसा है बच्चा..? 
 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मां को प्रीक्लेम्पसिया नाम की बीमारी थी। सिर्फ 25 हफ्ते में ही सीजेरियन के जरिए बच्ची को बाहर निकाल लिया गया। 
 

सिंगापुर के नेशनल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में डॉक्टर यवोन एनजी ने पूरी कहानी बताई। उन्होंने बताया कि पहली चीज जो मुझे आती है वह ये कि बच्ची में सांस लेने की नली डालने में भी दिक्कत हो रही है। वह इतनी छोटी थी कि हमें छोटे आकार की ट्यूब का इस्तेमाल करना पड़ा। 
 

 

करीब 13 महीने तक बच्ची का इलाज हुआ। यू शुआन इतनी छोटी थी कि उसे खुराक भी बहुत संभालकर देना पड़ता था। उसे संक्रमण का भी खतरा था क्योंकि उसकी त्वचा बहुत पतली और नाजुक थी। वह कई हफ्ते तक वेंटिलेटर पर रही।
 

एक साल की देखभाल के बाद अब उसका वजन 6.3 किलोग्राम है और वह अपने चार साल के भाई पर है। हॉस्पिटल में प्रवक्ता ने कहा, जन्म के समय उसमें जो दिक्कते थी, वह दूर हो गई हैं। कोरोना में इसे आशा की किरण माना जा रहा है। 
 

 

पहले जीवित रहने वाले सबसे छोटे बच्चे का जन्म संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था जिसका वजन 245 ग्राम था। फिलहाल बच्चा अभी ठीक है। परिवार के लोग लगातार डॉक्टर के संपर्क में हैं।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक