अगस्त क्रान्ति सप्ताह के तहत संगोष्ठी आयोजित

 

भीलवाड़ा । भारत की स्वतन्त्रता की 75वीं वर्षगांठ एवं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयन्ति वर्ष के उपलक्ष्य में “आजादी का अमृत महोत्सव“ के अन्तर्गत अगस्त क्रान्ति सप्ताह के तहत राजेन्द्र मार्ग स्कूल भीलवाड़ा में वेबीनार संगोष्ठी आयोजित की गई, जिसका विषय “हिन्द स्वराज अपनाओ, सामाजिक सरोकार बढ़ाओ“ था। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अक्षय त्रिपाठी संयोजक महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति, अध्यक्ष प्रहलाद पारीक एडीपीसी समसा, विशिष्ठ अतिथि योगेश पारीक जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय) प्रारम्भिक रहे। मुख्य वक्ता डाॅ0 पयोद जोशी सहआचार्य मा.ला.व. महाविद्यालय भीलवाड़ा एवं रामप्रसाद माणम्या व्याख्याता राउमावि राजेन्द्र मार्ग भीलवाड़ा थे। आॅनलाईन हुई संगोष्ठी माँ सरस्वती एवं महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्ज्वलन के साथ प्रारम्भ की गई। सभी अतिथियों का श्यामलाल खटीक प्रधानाचार्य राउमावि राजेन्द्र मार्ग द्वारा अभिनन्दन किया गया। कार्यक्रम के परिचय के बाद मुख्य वक्ता डाॅ0 पयोद जोशी ने “हिन्द स्वराज अपनाओ, सामाजिक सरोकार बढ़ाओ“ के सन्दर्भ में महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी घटनाओं पर प्रकाश डाला एवं उनके जीवन को सम्पूर्ण विश्व के लिये प्रासंगिक बताया। श्री रामप्रसाद माणम्या ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए गांधी जी के द्वारा किये गये आंदोलन एवं सामाजिक सरोकार को आत्मसात् करने के लिये प्रेरित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अक्षय त्रिपाठी ने गांधी जी के जीवन को युवा पीढ़ी के लिये प्रेरक बताया। विशिष्ठ अतिथि योगेश पारीक ने भी अपने विचार रखे। संगोष्ठी के अध्यक्ष प्रहलाद पारीक ने गांधी जी के द्वारा बताये गये मार्ग पर चलने का आह्वान किया। वेबीनार में जिले के लगभग 70 अधिकारी एवं प्रधानाचार्य ने भाग लिया। कार्यक्रम के सफल संचालन में  राजेश वैष्णव, अरूण शर्मा, राजेश शर्मा, भागचन्द सोमानी, भागचन्द जैन, छोटुलाल सुथार, निरन्जन व्यास का सहयोग रहा।
    अन्त में प्रधानाचार्य श्यामलाल खटीक द्वारा संगोष्ठी में जुड़ने वाले सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया। राष्ट्रगान के साथ ही संगोष्ठी का समापन हुआ।
 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !