गलत इंजेक्शन से युवक की मौत का आरोप, सोनी हॉस्पिटल में हंगामा

 


  भीलवाड़ा हलचल। शहर के सोनी हॉस्पिटल स्टॉफ पर गलत इंजेक्शन देकर युवक की मृत्युकारित करने का आरोप लगाते हुये परिजनों व समाज के लोगों ने हंगामा कर दिया। ये लोग मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर अस्पताल पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।  
पंचवटी निवासी भंवरसिंह चंद्रावत का आरोप है कि 17 अप्रैल को उनके बेटे लक्ष्मण सिंह के पेट में दर्द होने पर सुबह 6 बजकर 20 मिनट पर हॉस्पिटल में नॉर्मल चेकअप कराने गये। जहां डॉक्टर को दिखाने के लिए पर्ची कटवाई। डॉक्टर को चेकअप करवाया तो लक्ष्मण सिंह को भर्ती करवाने व जांच के लिए कहा। इस पर भंवर सिंह की पत्नी शिवकंवर ने पुत्र लक्ष्मण को भर्ती करवा दिया। उसे आईसीयू में एडमिट किया गया। दिनभर इलाज चला। वह ठीक था। सोनी हॉस्पिटल के कंपाउंडर , एक महिलाकर्मी और एक महिला डॉक्टर ने उपचार शुरू किया। 
रात दो बजे लक्ष्मण का दुबारा पेट दर्ज करने लगा। इस पर शिवकंवर ने कंपाउंडर  को लक्ष्मण को देखने के लिए बोला। कंपाउंडर नींद से उठकर आया और एक इंजेक्शान लगा दिया। 10-15 मिनिट बाद उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। शिव कंवर ने कंपाउंडर को बुलाया तो कंपाउंडर लेडिज डॉक्टर को कह रहा था कि लक्ष्मण सिंह को गलत इंजेक्शन लग गया है। इस कारण उसकी ज्यादा तबीयत बिगड़ गई। डॉक्टर ने कहा कि तुम चुप रहो, मैं, सब संभाल लूंगी। इस दौरान शिवकंवर वहीं थी और सब सुन रही थी। 
शिवकंवर ने कंपाउंडर व लेडिज डॉक्टर से हाथ जोड़कर कहा कि बेटे की तबीयत ज्यादा खराब हो रही है, तुम लोगों ने कौनसा इंजेक्शन लगाया। इस पर तीनों भड़क गये और तत्काल एंबुलेंस बुलाकर सामान उतारा व डिस्चार्ज टिकिट बनाकर वहां से जबरदस्ती रवाना कर दिया। इसके बाद लक्ष्मण सिंह को नेहरु रोड़ स्थित निजी अस्पताल ले गये, जहां शिव कंवर ने पति को बताया कि बेटे को कं पाउंडर ने गलत इंजेक्शन लगा दिया। 
आरोप है कि सोनी हॉस्पिटल का कंपाउंडर नेहरु रोड स्थित निजी अस्पताल आ गया और फाइल छीन ली और जबरदस्ती कागज निकाल कर ले गया। उसके कुछ देर बाद लक्ष्मण सिंह ने एंबंलेंस में ही दम तोड़ दिया। इसका उलाहना देने पर डॉक्टर ने झूंठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। मृतक के सात-आठ साल के देा बच्चे हैं, जिनका भविष्य खराब हो गया है। 
भंवर सिंह ने बताया कि उन्होंने इस घटना को लेकर कोतवाली में भी रिपोर्ट दी, लेकिन पुलिस ने अब तक न तो मामला दर्ज किया और न ही कोई कार्रवाई की। उधर, इसी मामले को लेकर आज मृतक के परिजनों व समाज के लोगों ने सोनी हॉस्पिटल में धरना प्रदर्शन कर कार्रवाई की मांग की है। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक