मनसा महादेव व्रत का किया संकल्प

 


राशमी।(कैलाश चन्द्र सेरसिया) मनोकामना पूरी करने के लिए चार महीने तक चलने वाला मनसा वाचा व्रत श्रावण शुक्ल पक्ष की चौथ गुरुवार से प्रारंभ हुए। महिलाओं ने सुबह शिव मंदिरों में व्रत का संकल्प किया। गुरुवार को बाजारों में पूजा-सामग्री की जमकर खरीदारी हुई। कस्बे सहित आसपास के गांवो स्थित शिवालयों में सुबह व्रतार्थियों ने व्रत लिया। कन्याओं-युवतियों ने अच्छे वर की कामना से तो विवाहिताओं ने सुखी दांपत्य जीवन के लिए व्रत लिया। कहीं कहीं पुरुषों ने भी व्रत लिया। अब अगले चार महीने तक घर पर तथा हर सोमवार को शिवालयों में पूजन कर मनसा महादेव की कथा कही सुनी जाएगी। चार महीने बाद कार्तिक मास की चतुर्थी पर साढ़े चार किलो चूरमे का भोग लगाकर व्रत का उद्यापन किया जाएगा। मान्यता है कि व्रत के करने से सभी मनोकामना पूर्ण होती है। व्रत पूर्ण होने पर आटे गुड़ के लड्डू का प्रसाद तैयार कर उसके चार भाग किए जाते हैं। जिसमें एक भाग भगवान को भोग लगाया जाता है। एक भाग ब्राह्मण एक गाय को खिलाया जाता है। चौथे भाग का व्रतधारी अपने घर के सदस्यों में प्रसाद वितरित करता है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक