गांवों में आतंक का पर्याय बने लुटेरे, लूट के बाद चढ़े हत्थे, पुलिस जुटी पूछताछ में

 

 भीलवाड़ा हलचल। भीलवाड़ा जिले में राह चलती बुजुर्ग महिलाओं व किसानों से नकदी व गहने छीनकर आतंक का पर्याय बन चुके लुटेरे गुरुवार को बागौर थाना सर्किल में एक ग्रामीण के साथ वारदात करने के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गये। इन लुटेरों ने गोविंदपुरा के एक ग्रामीण को शिकार बनाते हुये उससे नकदी व गहने लूट लिये। हड़बड़ाहट में ये बदमाश बाइक छोड़कर भागे जिन्हें ग्रामीणों की सहायता से पुलिस ने पीछा कर दबोच लिया। पकड़े गये लुटेरे बांसवाड़ा जिले के बताये जा रहे हैं। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, गोविंदपुरा निवासी नारु पुत्र हीरालाल सुथार गुरुवार को गोविंदपुरा से गाय लेकर लेसवा जा रहा था। इस दौरान चांदरास-लेसवा मार्ग पर सुनसान जगह एक बाइक से आये दो लुटेरों ने नारु को रोका और उससे छीनाझपटी कर गले से एक तोला वजनी सोने का नावा, 15 हजार रुपये और एंड्रायड मोबाइल लूट लिया। नारु ने दोनों लुटेरों से छीनाझपटी के दौरान संघर्ष किया। इस हड़बड़ी में लुटेरे अपने साथ लाई गई मोटरसाइकिल को छोड़कर भागे, जिन्हें ग्रामीणों व पुलिस ने पीछा कर दबोच लिया। इसके बाद दोनों लुटेरों को बागौर पुलिस ने डिटेन कर लिया। फिल्हाल पुलिस लूट का मामला दर्ज कर पकड़े गये लुटेरों से पूछताछ कर रही है।  पुलिस का कहना है कि पकड़े गये दोनों लुटेरे बांसवाड़ा जिले के हैं। 
उधर, बागौर संवाददाता बिरदीचंद जीनगर के अनुसार, लूटपाट के दौरान बदमाशों ने नारु पर पत्थर से हमला कर दिया, जिससे वह जख्मी हो गया। उसका बागौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार किया जा रहा है। वहीं पुलिस अब लुटेरों द्वारा नारु से छीनकर खेतों में फैंके गये गहनों की तलाश में जुटी है। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक