बेरां में चोरों ने दूसरे दिन फिर दी दस्तक, चोरी की हुई मूर्ति छोड़ गये मंदिर के बाहर, पुलिस ने ली कब्जे में

 


 बेरां भैंरूलाल गुर्जर। रायला थाने के बेरां गांव में चोरों ने लगातार दूसरे दिन दस्तक दी है। इस बार चोरों ने कोई चोरी नहीं की, बल्कि कहीं और से चोरी की रामदेवजी की मूर्ति को एक मंदिर के बाद छोड़कर भाग छूटे। रायला पुलिस ने मूर्ति को कब्जे में ले लिया है, लेकिन अब तक यह पता नहीं चल पाया कि चोर ये मूर्ति कहां से चुराकर लाये।  
जानकारी के अनुसार, बैरां में मंगलवार की रात्रि को एलआईसी एजेंट गोपाल गुर्जर के मकान पर धावा बोलकर नथ, पायजेब, दस हजार रुपये चुरा ले गये थे। इस वारदात के दूसरे दिन चोरों ने इसी गांव में फिर दस्तक दी। इस बार चोरों ने गांव में कोई चोरी नहीं की, बल्कि कहीं ओर से चुराई गई एक मूर्ति को बेरां के रेगर मोहल्ला स्थित रामदेवजी के मंदिर के बाहर चबूतरे पर छोड़ गये। 
सुबह पूजा-अर्चना करने मंदिर गये ग्रामीणों ने यह मूर्ति चबूतरे पर लावारिस हालत में देखी। मंदिर के पुजारी नारायण लाल रैगर ने यह मूर्ति रामदेवजी की और अष्टधातू से बनी होने की बात कही है। इसके बाद पूर्व सरपंच मोहनलाल ने रायला थाने में इस लावारिस मूर्ति की सूचना दी। बाद में रायला थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मूर्ति को कब्जे में कर थाने ले गई। अभी यह पता नहीं चल पाया कि यह मूर्ति चोरों ने कब और कहां से चुराई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। उधर, माना जा रहा है कि चोरों ने इस मूर्ति को चांदी की जानकर चुराया, लेकिन मूर्ति चांदी की नहीं होने से इसे लावारिस हालत में छोड़ दिया गया।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक