बढ़ते वजन को इंस्टेंट कंट्रोल करने के लिए फॉलो करें ये आसान टिप्स

 

लाइफस्टाइल डेस्क। बढ़ते वजन को कंट्रोल करना आसान नहीं होता है। इसके लिए कठिन मेहनत करनी पड़ती है। मोटापा के कई कारण हैं। इनमें जंक फ़ूड का अत्यधिक सेवन, खराब दिनचर्या, अनुचित खानपान और तनाव प्रमुख हैं। यह एक आनुवांशिकी रोग भी है, जो पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है। मोटापा से निजात पाने के लिए अनुशासित होना अनिवार्य है। इस दौरान जंक फूड से परहेज करें, सही दिनचर्या का पालन करें, रोजाना एक्सरसाइज और योग करें, कम से कम 8 घंटे जरूर नींद लें, तनाव से दूर रहें और संतुलित आहार लें। इन चीजों को फॉलो करने से आप बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। वहीं, जिद्दी पेट की चर्बी यानी बैली फैट को कम करने के लिए इन आसान टिप्स को जरूर फॉलो करें। आइए जानते हैं-

-रोजाना लंच के समय अपनी दैनिक कैलोरी का 50 प्रतिशत खाने का प्रयास करें। वहीं, बाकी की कैलोरी शाम में सात बजे से पहले सेवन करें। विशेषज्ञों की मानें तो दोपहर के समय पाचन शक्ति तेजी से कार्य करती है।

 -अगर आप बढ़ते वजन से परेशान हैं और बैली फैट कम करना चाहते हैं, तो रिफाइन्ड कार्बोहाइड्रेट चीजों से परहेज करें। आसान शब्दों में कहें तो कोल्ड ड्रिंक, मिठाई, पास्ता, बिस्कुट समेत तली-भुनी चीजों का सेवन न करें।

-रोजाना सुबह में खाली पेट मेथी पाउडर को एक गिलास पानी में मिलाकर सेवन करें। साथ ही आप रात में सोने से पहले एक मुठ्ठी मेथी के दाने को एक गिलास पानी में भिगोकर रख दें। अगली सुबह को मेथी पानी पी लें और मेथी के दाने को चबाकर खा जाएं।

  -गार्सिनिया कैंबोगिया का सेवन करें। इसमें हाइड्रोक्क्लोरिक एसिड होता है, जो वजन कम करने में सहायक माना जाता है। इसके सेवन से पाचन तंत्र मजबूत होता है, मेटाबॉलिज़्म बूस्ट होता है और वजन कंट्रोल होता है।

-अपनी डाइट में त्रिफला को जरूर शामिल करें। इसके सेवन से शरीर में मौजूद टॉक्सिन बाहर निकल जाता है। इससे पाचन तंत्र सुचारू रूप से काम करने लगता है। इसके लिए एक चम्मच त्रिफला को गर्म पानी के साथ सेवन करें।

-रोजाना गुनगुना गर्म पानी पिएं। फिर चाहे गर्मी हो या सर्दी का मौसम। हर मौसम में बैली फैट को कम करने के लिए गुनगुना गर्म पानी पिएं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक