श्री बाबा धाम पर हर-हर महादेव की गुंज

 

भीलवाड़ा । श्री बाबा धाम के अध्यक्ष विनीत अग्रवाल के सानिध्य में श्री बाबाधाम पर महाशिवरात्रि श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाईन की कठोरता से पालना करते हुये मंदिर प्रांगण में व्यवस्थाकी गयी, बिना मास्क मन्दिर मंे प्रवेश नहीं दिया जाता है। मंदिर में भी कम से कम 8 फीट दूरी पर ही खड़े होकर बारी-बारी दर्शन करते है। मंदिर में भक्तों के लिये सैनिटाईजर भी उपलब्ध रहता है।
श्री बाबाधाम मंदिर पर ऋण मुक्तेश्वर गौरी शंकर महादेव का विशेष श्रृंगार किया जा रहा है। इस स्थान की ऐसी महिमा है कि गौरीशंकर का शिवलिंग एक साथ है जो कि भारत में पहला शिवलिंग है। इसमें माता गौरी लाल रंग में तथा शिवजी हरे रंग में एक ही शिवलिंग में विद्यमान है ऐसा शिवलिंग भारत में नहीं है। यह शिवलिंग हरिद्वार के ब्रम्हकुण्ड से श्री बाबा को प्राप्त हुआ था। यह चमत्कारिक एकमात्र गौरीशंकर शिवलिंग श्री बाबाधाम पर 17 अप्रैल 2008 को स्थापित हुआ। यह शिवलिंग पर प्रत्येक गुरूवार को भक्तांे के द्वारा चने की दाल चढ़ाई जाती है जिससे पितृऋण, मातृऋण, सखाऋण, नकदऋण से मुक्ति मिलती है। चने की दाल मंदिर की तरफ से निःशुल्क उपलब्ध रहती है।
             श्री बाबाधाम पर शिव दरबार को विशेष आकर्षक, रंग बिरंगी, झिलमिल मनमोहक लाईटिंग और फल-फूलों से सजावट की गयी। श्री बाबा धाम मंदिर में श्रावण मास में विशेष सुबह से ही भक्तों का तांता लग जाता है। हर-हर महादेव, ऊँ नमः शिवाय की गुंज के साथ जलाभिषेक रूद्राभिषेक, हवन पूजा प्रतिदिन होता है। श्री बाबाधाम के पण्डित योगेन्द्र शर्मा व पं. शिवकुमार जोशी द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ अभिषेक व हवन पूजा किया जाता है। भगवान के बिल्व पत्र, आक के फूल, धतूरा, जल, दुध, पंचामृत, गन्ने का रस आदि में शिव भगवान का अभिषेक किया जाता है।
               हजारों भक्तों ने ऋण मुक्तैश्वर गौरीशंकर महादेव के अभिषेक, हवन पूजन के साथ ओम नमः शिवाय हर-हर महादेव की जय घोष के साथ अपनी मनोकामना मांगी, भोले बाबा के जय घोष के साथ इस साल अच्छी बारिश की कामना की। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक