लोगों की चिंता बढ़ा रहे है भीलवाड़ा के बाजार, हो रहा है कोरोना दिशा निर्देशों का उल्लंघन

 

भीलवाड़ा (वि‍जय गढवाल)। भीलवाड़ा में कोरोना के मामले अब थम रहे है। यह शहर के लोगों को शकून का अहसास दिला रहा है लेकिन जिस तरह से बाजारों और सार्वजनिक स्थानों से कोरोना दिशा निर्देशों के उल्लघन की तस्वीरें सामने आ रही है जो चिंता बढ़ाने वाली भी है। यह स्थिति तब है जब स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तीसरी लहर को लेकर लोगों को सचेत कर रहे है। इसमें जिला प्रशासन, पुलिस और नगर परिषद की लापरवाही कम नहीं है। वे इन तस्वीरों को देखकर भी आंखें मूंदे हुए है। इसके कारण लापरवाह लोगों की लापरवाही बढ़ती ही जा रही है।
आजाद चौक, सरकारी दरवाजा, नगर परिषद के पीछे चौपाटी, सब्जी मण्डी के साथ ही शहर के कई बाजारों का यही हाल है जहां अधिकांश लोग बिना मास्क के नजर आ रहे है। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना भी न के बराबर हो रही है। चिंता वाली बात यह है कि होटल व चाट पकौड़ी की दुकानों पर लोग एक साथ काफी सुख्या में जमा होकर व्यंजनों का लुफ्त उठा रहे है। यह तब है जब होटल और दुकानों पर नियमों की पालना करने के निर्देश दिए हुए है लेकिन नियमों की यहां खुल्लेआम धज्जियां उड़ रही है। दुकानों के भीतर भी यह लापरवाही देखने को मिल रही है। न दुकानदार मास्क लगा रहे है और न ही ग्राहक। चौपाटियों के हाल तो काफी खतरनाक है। जहां सांझ ढलने के साथ ही मेला सा लगता है। 
प्रशासन चेतावनी तो देता रहता है लेकिन भीलवाड़ा में कोरोना संक्रमण नहीं रहने से सभी सुस्त हो गए है जिसके चलते मास्क का उपयोग 75 फीसदी लोग भूल गए है। हालात यह है कि जो लोग मास्क लगा रहे है वह भी सिर्फ दिखावे के लिए। चेहरे पर मास्क लटका हुआ होता है लेकिन वह न तो मुंह पर लगा हुआ होता है और न ही नाक पर। 
लोग यह समझ रहे है कि कोरोना चला गया है लेकिन दिल्ली से लेकर राज्य की सरकार तीसरी लहर को लेकर चिंतित है। मुख्यमंत्री ने कल ही तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई है लेकिन भीलवाड़ा नगर परिषद इस बात को समझ नहीं पा रही है। वह लोगों को नहीं समझा पा रही है कि सावधान रहेंगे तो बचे रहेंगे। नहीं तो तीसरी लहर से फिर कुछ दिन पहले वाली दूसरी लहर की तरह ही भयानकता हर किसी को झेलनी होगी। अब भी वक्त है संभलने का।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक