नौगांवा सांवरिया सेठ को लगाया 125 किलो मिठाई का भोग, 121 दीपकों से हुई महाआरती

 

 ,

भीलवाड़ा । परम पूज्य माधव गो विज्ञान अनुसंधान संस्थान की ओर से नौगांवा में संचालित माधव गौशाला परिसर स्थित सांवलिया सेठ मंदिर में भगवान को आये दिन छपन्न भोग लग रहे है। बीती शाम मंदिर में छगन मगन सांवलिया मण्डल पुर की ओर से हलवाईयों द्वारा तैयार करवा 125 किलो मिठाई की झांकी सजाई गई।  121 दीपक से महा आरती के बाद प्रसाद वितरित किया गया। इससे पूर्व मंदिर में मंडल की ओर से भजनों की गंगा बहती रही। श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम, सांवरिया सेठ दे दे, मीठे रस से भरो री राधा रानी लागे, राधे राधे जपो चले आएंगे बिहारी सहित सांवरिया सेठ पर आधारित एक से बढ़कर एक भजन पेश कर उन्हें रिझाया गया। भजनों पर सभी श्रद्धालु भावविभोर हो गए। मंदिर के पुजारी दीपक पाराशर एवं आनंद पाराशर ने भगवान सांवरिया सेठ का भव्य श्रृंगार किया। मंदिर प्रबंध समिति के संयोजक गोविन्द प्रसाद सोडानी ने बताया कि श्यामसुंदर आशीष छीपा पुर के सहयोग से लगाए गए छप्पन भोग के दौरान प्रस्तुत भजनों पर भक्तों ने जमकर नृत्य किया। व्यवस्थाओं में हेमंत, आशीष, अभिषेक, विपिन, तुषार, गणपत लाल सहित पुर के छिपा परिवार का पूरा सहयोग रहा। विनोद सोमानी की ओर से ठाकुर जी को रजत मुकुट एवं भंवरलाल राकेश दरगढ़ की ओर से हनुमान जी की प्रतिमा के लिए रजत मुकुट भेंट किया गया। अजीत सिंह एवं सूरज सिंह का प्रसाद वितरण सहित अन्य व्यवस्थाओं में सराहनीय सहयोग रहा। 

 

 

 

 

 

भीलवाड़ा । श्री रामधाम रामायण मंडल ट्रस्ट की ओर से हमीरगढ़ रोड स्थित रामधाम में 1 नवंबर को गोपाष्टमी पर्व परंपरागत ढंग  से मनाया जाएगा। ट्रस्ट के सचिव अभिषेक अग्रवाल ने बताया कि गोपाष्टमी पर सुबह 10:30 से 11:30 तक होने वाले कार्यक्रम के तहत  पहली बार गौ माता के लिए गो भक्तों के सहयोग से 56 भोग लगाया जाएगा। गौ माता की पूजा एवं आरती की जाएगी। 56 भोग आमजन के सहयोग से लगाया जा रहा है। छप्पनभोग निर्माण प्रमुख गोपाल अग्रवाल ने बताया की  छप्पन भोग में सूखे मेवे, फल, सब्जी सहित खल लड्डू, लापसी,फल, बांटा, लौकी, जो लापसी, गेहूं लापसी, बाजरा लापसी, मक्की लापसी, ज्वार लापसी, सरसों खल, मूंगफली खल, कपास खल, तिल्ली खल, केला, सेब, चीकू, अनार, पपीता, जो, मक्की, गेहूं, ज्वार, टिनसी, सरसों, मूली, पालक, मेथी, आंवला, हल्दी, तरोई, आलू, ग्वार फली, ककड़ी, कद्दू, गोभी फूल, परमल, आटा के लड्डू, जौ लड्डू, बाजरा लड्डू, तिल लड्डू, अजवाइन लड्डू, मेथी लड्डू, ज्वार लड्डू, मेथी लड्डू, ज्वार लड्डू, मक्की लड्डू , बाजरा अमरूद आदि शामिल है।  रामधाम में छप्पन भोग का निर्माण जोरों पर है। छप्पन भोग को लेकर तैयारियों में गोविंद प्रसाद सोडाणी, गोविंद खेमका, सुभाष बिडला, राकेश सिंहल, उत्तम सराफ बंटी नुवाल, लोकेश पाराशर, नन्दू झंवर, भगवान करनानी, नवरत्न पारीक आदि पूरी तरह जुटे हुए हैं। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना