बजरी खनन के भीलवाड़ा, जहाजपुर व मांडल में तीन पट्टे दिये, 15 माह की होगी अवधि, अवैध खनन पर लगेगी रोक

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। भीलवाड़ा में अब मकान व अन्य निर्माण कार्य करने वालों को राहत मिलेगी। भीलवाड़ा की तीन तहसीलों में खनिज बजरी के 13 माह के लिए तीन पट्टे जारी किये हैं। इससे न केवल अवैध खनन पर रोक लगेगी, बल्कि बजरी भी उचित दामों में लोगों का उपलब्ध हो सकेगी।  
खनिज विभाग के खनिज अभियंता जिनेश हुमड़ ने बीएचएन को बताया कि बजरी के अवैध खनन के रोकथाम के दृष्टिगत जिले में खनिज बजरी के तीन खनिज पट्टे संजय गर्ग, अभिमन्यु चौधरी व मैसर्स शेखावत एसोसिएटस को ये पट्टे 13 माह के लिए जारी किये गये हैं। ये पट्टे भीलवाड़ा, मांडल व जहाजपुर तहसील के लिए जारी किये गये हैं। 
हुमड़ ने बताया कि संजय गर्ग को भीलवाड़ा तहसील के राजस्व गांवों में गैर मुमकिन नदी, नालों, बाहलों, से (खसरे के अनुसार) निकलने वाला खनिज बजरी क्षेत्रफल 1947.12  हैक्टर , जबकि अभिमन्यु चौधरी को मांडल तहसील क्षेत्रफल 995.00 हैक्टर, जबकि जहाजपुर तहसील के लिए पट्टा मैसर्स शेखावत एसोसिएट्स को यह पट्टा 13 माह 15 दिन के लिए मिला है। इसका क्षेत्रफल 1299.00 हेक्टेयर है। 
हुमड़ ने बताया कि सरकार द्वारा दी  गई 13 माह की वैध खनन की अनुमति से जिले में  अवैध खनन पर काफी हद तक अंकुश लग सकेगा। उन्होंने जल्द ही बजरी खनन चालू होने की संभावना जताई है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा