स्वाद पर न जाएं, हरे केले के फायदे जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे!

 

लाइफस्टाइल डेस्क। केले को सबसे स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर फल माना जाता है। आप इस फल को कई तरह से खा सकते हैं, चाहे स्मूदी हो, फ्रूट सलाद, चिप्स या फिर हरे या कहें कच्चे केले ही क्यों न हों। हल्के कच्चे केले ज़्यादातर लोग खाना पसंद नहीं करते, क्योंकि पीले केले खाने में ज़्यादा मज़ेदार होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरे केले खाने के इतने फायदे हैं कि आपकी सेहत का हाल बदल सकता है।

ज़्यादातर लोग नहीं जानते कि हरे केले ऊर्जा, विटामिन, खनीज और शकर, जो फाइबर की तरह काम करती है। इसका मतलब है कि आप बेहतर पाचन, वज़न प्रबंधन, अच्छे हृदय स्वास्थ्य और नियंत्रित रक्त शर्करा के स्तर सहित कई लाभों का आनंद ले सकते हैं।

हरे केले के कई फायदे

हरे केलों को कच्चा केला भी कहा जाता है, क्योंकि इन्हें उस वक्त तोड़ लिया जाता है जब ये पूरी तरह से पके नहीं होते और बिल्कुल कच्चे भी नहीं होते। हरे केलों की ख़ास बात यह है कि इसे खाने से भूख कन होती है, क्योंकि इसमें फाइबर और रेसिस्टेंट स्टार्च की उच्च मात्रा होती है।आइए जानें कच्चे केलों के कुछ फायदे

1. पेट के लिए हेल्दी

कच्चे केले गट बैक्टीरिया को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। इसमें प्रतिरोधी स्टार्च होता है, जो एक प्रकार का कार्बोहाइड्रेट है, जो छोटी आंत में पाचन का "प्रतिरोध" करता है और पाचन तंत्र में आंत के अनुकूल रोगाणुओं के विकास के लिए भोजन के रूप में कार्य करता है। यह शॉर्ट-चेन फैटी एसिड (एससीएफए) के उत्पादन को भी बढ़ा सकता है, जो पाचन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं।

2. दिल की सेहत

पके केले की तरह हरे केले भी दिल की सेहत के लिए काफी मददगार होते हैं। यह पोटैशियम के बेहतरीन स्त्रोत हैं, एक ऐसा खनीज, जो मांसपेशियों के अनुबंध और हृदय को नियमित रूप से धड़कने में मदद करता है। यह रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

3. कोलेस्ट्रोल को कम करता है

कच्चे केले की उच्च फाइबर सामग्री कोलेस्ट्रॉल को प्रबंधित करने में मदद करती है, क्योंकि कच्चे केले फाइबर से भरपूर होते हैं, जो ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल में रखता है। इसके अलावा, अगर इसका नियमित रूप से सेवन किया जाए, तो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है

4. भूख को कंट्रोल करता है

हरे केले को खाने के बाद तृप्ति या परिपूर्णता की भावना होती है, जिससे आप ज़्यादा नहीं खाते।

5. डायबिटीज़ में मददगार होते हैं कच्चे केले

हरे और पके केले में मुख्य अंतर यह है कि हरे केले में कार्बोहाइड्रेट मुख्य रूप से स्टार्च के रूप में होता है। यह पकने की प्रक्रिया के दौरान धीरे-धीरे चीनी में बदल जाता है, इसलिए ज़्यादातर लोग पके केले खाना पसंद करते हैं क्योंकि वे मीठे होते हैं। इसलिए हरे केले मधुमेह के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। एक्टपर्ट्स का कहना है कि हरे केले डायबियटीज़ से पीड़ित लोगों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं, क्योंकि यह लो ग्लायसेमिक इंडेक्स फूड्स में आते हैं। हालांकि, फिर भी इन्हें ज़्यादा नहीं खाना चाहिए, खासतौर पर अगर आपको डायबिटीज़ है।

Disclaimer:लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !