दिल्ली-एनसीआर का मौसम हुआ सुहाना, IMD ने बारिश को लेकर जारी किया यलो अलर्ट

 

नई दिल्ली । दिल्ली-एसीआर के मौसम का मिजाज सोमवार सुबह से ही पूरी तरह से बदला हुआ है। रविवार रात से लेकर सोमवार सुबह तक हुई तेज बारिश ने एक ओर जहां वायु प्रदूषण से राहत प्रदान की है तो वहीं न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट से ठंड में भी इजाफा हुआ है। वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, यलो अलर्ट जारी है, ऐसे में सोमवार शाम तक बारिश जारी रह सकती है। वहीं, तेज बारिश की वजह से  दिल्ली-एनसीआर का मौसम बेहद सुहाना हो गया है। इसके साथ ही हवाओं ने लोगों को ठंड का एहसास भी कराया। 

दिल्ली-एनसीआर के इन इलाकों में हुई बारिश

दिल्ली के साथ यूपी के गाजियाबाद, हापुड़, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जमकर बारिश हुई है। इसके अलावा, दिल्ली से सटे हरियाणा के शहरों मसलन गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पलवल, होडल, सोहना, मानेसर, नूंह, रेवाड़ी, नारनौल और कोसली इलाके में बारिश के बाद वायु प्रदूषण में कमी आई है। उधर, यूपी के मोदीनगर, हापुड़, गढ़मुक्तेश्वर में भी बारिश ने लोगों को राहत प्रदान की है, लेकिन किसानों की मुश्किल बढ़ गई है। 

वहीं, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार दिल्ली में औसत एयर इंडेक्स 298 दर्ज किया गया, जो खराब श्रेणी में है। एक दिन पहले दिल्ली में एयर इंडेक्स 284 दर्ज किया गया था। इस तरह पिछले दिन के मुकाबले प्रदूषण का स्तर अधिक रहा। गाजियाबाद, गुरुग्राम व फरीदाबाद में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई।

सफर इंडिया के अनुसार पराली जलाने की 815 घटनाएं हुई हैं। इस वजह से दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं की भूमिका 12 फीसद रही। बारिश के बावजूद प्रदूषण में पराली के धुएं का असर दो फीसद ही कम हुआ है। हालांकि, अभी हवा की दिशा पराली का धुआं दिल्ली आने के अनुकूल नहीं है। इसके अलावा सोमवार को भी बारिश होगी। इस वजह से सोमवार को हवा की गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में पहुंच सकती है। सीपीसीबी के अनुसार 16 अक्टूबर को हरियाणा में पराली जलाने की 176 व पंजाब में 429 घटनाएं हुई हैं।

दिल्ली-एनसीआर का एयर इंडेक्स

  • गाजियाबाद - 310
  • ग्रेटर नोएडा - 244
  • नोएडा - 288
  • गुरुग्राम - 332
  • दिल्ली - 298
  • फरीदाबाद - 312

     

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

शीतलाष्टमी की पूजा आज देर रात से, रंगोत्सव (festival of colors) कल लेकिन फैली है यह अफवाह ...!

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज