कैप्टन सच में लेंगे कांग्रेस से अपमान का बदला? पंजाब में नई पार्टी और भाजपा से गठबंधन !

 

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस से 'अपमान' का बदला लेने के मूड में दिख रहे हैं। कांग्रेस से अलग होने का ऐलान कर चुके पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अब अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी शुरू करने के लिए तैयार हैं और आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन या सीट एडजस्टमेंट पर भी विचार कर सकते हैं। इस मामले से परिचित लोगों ने इस बात की जानकारी दी।

पूर्व सीएम कैप्टन ने गृह मंत्री अमित शाह और एनएसए अजीत डोभाल के साथ अपनी हालिया बैठकों के बाद उनकी सोच से अवगत लोगों द्वारा हिंदुस्तान टाइम्स के साथ साझा की गई जानकारी की न तो पुष्टि की और न ही खंडन किया। हालांकि, इस मामले से परिचित लोग यह नहीं बता सके कि क्या कैप्टन और भाजपा के बीच प्रस्तावित गठजोड़ केंद्र सरकार द्वारा तीन कृषि कानूनों पर गतिरोध को तोड़ने के लिए कदम उठाने पर आधारित होगा, जो राज्य में एक बेहद भावनात्मक मुद्दा है और मौजूदा वक्त में भाजपा के लोकप्रिय आधार को कमजोर कर दिया है।

इन अटकलों के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केवल इतना कहा कि वह मीडिया के बयानों के माध्यम से राजनीति करने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'मैं मैदान में, लोगों की अदालत में अपनी लड़ाई लड़ूंगा।' उन्होंने कहा कि वह फिर से दिल्ली की यात्रा करेंगे और कांग्रेस के वरिष्ठ असंतुष्ट नेताओं (जिन्हें जी-23 के रूप में जाना जाता है) के साथ मुलाकात करेंगे, जो पार्टी की जर्जर स्थिति को लेकर परेशान है।

कैप्टन ने कहा- कांग्रेस में हुआ मेरा अपमान तो रावत बोले- लगता है आप किसी के दबाव में हैं

तकनीकी तौर पर कैप्टन अमरिंदर अभी भी कांग्रेस में हैं, मगर उन्होंने कहा है कि उनका पार्टी में बने रहने का कोई इरादा नहीं है। माना जा रहा है कि कांग्रेस से औपचारिक रूप से विदाई तब हो सकती है, जब उनकी राजनीतिक योजनाएं पूरी हो जाएंगी। उन्होंने कहा, 'मैं जी-23 को सोशल मीडिया पर चिंता व्यक्त करने के बजाय मैदान में उतरने और लोगों तक पहुंचने के लिए कहने जा रहा हूं।' बता दें कि जी-23 समूह के ज्यादातर नेता संगठन और नेतत्व में बदलाव चाहते हैं न कि पार्टी से बाहर निकलने का रास्ता। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस बात से इनकार किया कि यह बात सार्वजनिक होने के बाद कि वह इस्तीफा देंगे, कांग्रेस की ओर से किसी ने उनसे संपर्क किया है। मगर पार्टी के एक सीनियर पदाधिकारी ने खुलासा किया कि (कैप्टन की मीडिया रिपोर्टों के जवाब में कि वह अपमानित महसूस कर रहे हैं) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उन्हें यह बताने के लिए संदेश भेजा है कि वह उनके अच्छे होने की कामना करती हैं और सोनिया गांधी का ऐसा इरादा बिल्कुल नहीं था, जैसा कैप्टन महसूस कर रहे हैं। सोनिया गांधी ने कथित तौर पर कहा कि उनका यह तरीका नहीं है और वह अपने साथियों और अपने लोगों को अपमानित करने का ऐसा इरादा बिल्कुल नहीं रखतीं। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !