पुलिस के डर से तालाब में कूदे 4 युवक, 1 की मौत

 

हरियाणा के जींद के सफीदों में छापेमारी करने गई पुलिस के डर से 4 युवक तालाब में कूद गए। 3 युवक तो सुरक्षित बाहर निकल आए, लेकिन एक की डूबने से मौत हो गई। जैसे ही परिजनों को इसका पता चला तो वह लामबंद हो गए और जींद-सफीदों मार्ग जाम कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने एक पुलिसकर्मी को भी बंधक बना लिया।

घटना की सूचना मिलने पर डीएसपी आशीष कुमार, डीएसपी धर्मबीर पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने साफ कहा कि जब तक पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या और मृतक परिजनों को आर्थिक सहायता नहीं दी जाती तब तक जाम जारी रहेगा। फिलहाल पुलिस अधिकारी मौके पर बने हुए हैं।

यह है मामला

सीआईए स्टाफ टीम को सूचना मिली थी कि गांव खेड़ाखेमावती में कुछ युवक सट्टा खाईवाल कर रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस युवकों को पकड़ने के लिए गांव पहुंची तो पुलिसकर्मियों के भय से युवक पास के एक तालाब में कूद गए। तीन युवक सुरक्षित बाहर निकल आए, जबकि गोबिंद तालाब से बाहर नहीं आया। जिस पर ग्रामीणों ने उसे बाहर निकाला और उपचार के लिए नागरिक अस्पताल ले आए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मामले को बढ़ता देख छापामार टीम वहां से निकल गई, जबकि सिपाही सुरेंद्र को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। इसके बाद परिजनों तथा ग्रामीण जींद-सफीदों मार्ग पर जाम लगा दिया। परिजनों ने मांग की कि सीआईए कर्मियों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर गिरफ्तारी और मृतक परिवार को आर्थिक सहायता दे। फिलहाल डीएसपी आशीष, सदर थाना सफीदों प्रभारी धर्मबीर पुलिसबल के साथ मौके पर बने हुए हैं।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा