फेसबुक फ्रेंड ने छात्रा से किया दुष्कर्म, फोन उठाना बंद किया तो पिता को भेज दी अश्लील तस्वीरें

जयपुर में एक छात्रा से दुष्कर्म करने और ब्लैकमेल कर पैसे हड़पने का मामला सामने आया है। आरोप है कि फेसबुक फ्रेंड के झांसे में आकर वह उसके परिजन से मिलने घर पहुंची, जहां फ्रेसबुक फ्रेंड ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद वह उसे ब्लैकमेल करने लगा। 


आरोपी लगातार पीड़िता को अश्लील तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देने लगा। जिसके के चलते पीड़िता ने अपनी स्नातक की पढ़ाई तक छोड़ दी और घर से निकलना तक बंद कर दिया। पीड़िता के परिवार के सदस्यों को यह बात पता चली तब जाकर उन्होंने शुक्रवार देर रात करणी विहार थाने पहुंच मुकदमा दर्ज करवाया। मामला दो साल पुराना है।पीड़िता ने बताया कि जब वह आरोपी के मां-बाप से मिलने के लिए जगतपुरा पहुंची तो नेतराम उसे अपने किराए के कमरे पर ले गया। कमरे पर कोई भी मौजूद नहीं था। जिसके बाद उसे शक हुआ। जब उसने पूछा तो नेतराम ने मां-बाप के कुछ देर में आने की बात कही। फिर पीड़िता को धक्का मार कमरे के अंदर बंद कर दिया। उसके साथ आरोपी ने युवती के साथ मारपीट की और धमकी देकर दुष्कर्म किया। इस दौरान आरोपी ने पीड़िता के अश्लील फोटो और वीडियो भी बना ली। उसने धमकी दी कि अगर वारदात के बारे में बताया तो उसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा। इसके बाद आरोपी ने पीड़िता को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और रुपयों की मांग करने लगा। पीड़िता ने आरोप लगाया कि आरोपी दो साल से उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है। उसने डर से घर से निकलना बंद कर दिया है। जब परेशान होकर उसने आरोपी के फोन उठाने बंद कर दिए तो उसने अश्लील तस्वीर उसके पिता को भेज दी। पीड़िता ने पुलिस से सनकी बदमाश से बचाने की गुहार लगाई है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना