लापता प्रौढ़ की कुएं में मिली सड़ी-गली लाश, बाहर पड़े मिले कपड़े, जांच में जुटी पुलिस

 



 भीलवाड़ा बीएचएन। जिले के नायकों का बाडिय़ा गांव के एक लापता प्रौढ़ की सड़ी-गली लाश बीती रात एक कुएं में पाई गई। मृतक के कपड़े व चप्पल कुएं के बाहर पड़े मिले। इस घटना से वहां सनसनी फैल गई। 
बदनौर पुलिस ने बीएचएन को बताया कि बदनौर से नायकों का बाडिय़ा (भैंरूखेड़ा) के बीच रास्ते पर ही गुर्जर जाति के एक व्यक्ति का कुआ स्थित है। इस कुएं का मालिक 5-6 दिन बाद शनिवार को कुएं पर गया ता उसे बदबु आई। कुएं में देखा तो शव तैरता नजर आया। मृतक का कमीज, चप्पल बाहर पड़ा था। यह देखकर कुआ मालिक ने ग्रामीणों व पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और अथक प्रयास के बाद रात करीब एक बजे शव को कुएं से बाहर निकलवा पाई। जिसे बाद में पोस्टमार्टम के लिए आसींद सीएचसी भिजवा दिया गया। इससे पहले शव की पहचान नायकों का बाडिय़ा निवासी रूपा 47 पुत्र मांगू नायक के रुप में कर ली गई। रविवार सुबह पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।  


फैक्ट्री में करता था मजदूरी, बारिश के चलते हो गई थी जल्दी छुट्टी
रुपा दो भाइयों में से एक था। वह, बदनौर में स्थित वद्र्धमान नामक फैक्ट्री में मजदूरी करता था। 26 जुलाई को सुबह भी रूपा रोजमर्रा की तरह घर से फै क्ट्री गया था। इसके बाद साढ़े ग्यारह बजे बारिश आ गई थी। बारिश के कारण फैक्ट्री के मजदूरों की छुट्टी कर दी गई थी। 
फैक्ट्री से घर नहीं पहुंचा था रुपा
रुपा बदनौर स्थित फैक्ट्री से छुट्टी मिलने के बाद वहां से रवाना तो हो गया, लेकिन घर नहीं पहुंचा था। इसके बाद शाम तक भी वह नहीं लौटा। घरवालों ने आस-पास तलाश की, लेकिन कहीं पता नहीं चला। अगले दिन से लगातार तीन दिन तक परिजन रिश्तेदारी व आस-पास के गांवों के परिचितों के यहां रुपा की तलाश करते रहे, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। शनिवार शाम को चार-पांच बजे परिजनों ने बदनौर थाने जाकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दी। इसके बाद शाम को ही लाश मिलने की सूचना आ गई थी। 

बुजुर्ग मां की करता था देखभाल, भाई से रहता था अलग
रुपा, अपने भाई से अलग बुजुर्ग मां के साथ रहता था। रुपा, मजदूरी कर अपना व बुजुर्ग मां का जीवन यापन कर रहा था। मां को खाना भी अपने हाथ से बनाकर खिलाता था। रुपा ने शादी भी नहीं की थी। रुपा व्यवहार कुशल था। उसका कभी किसी से कोई विवाद तक नहीं हुआ था। अभी यह पता नहीं चल पाया कि रुपा ने खुदकुशी की या वह हादसे का शिकार हुआ। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना