खेल-खेल में कुएं में गिरा मासूम बेटा, बचाने के लिए 11 माह के बेटे सहित मां ने भी लगाई छलांग, तलाश जारी

 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। जिले के रतनपुरा गांव से एक हृदयविदारक घटना सामने आई हैं, जहां खेल-खेले में साढ़े तीन साल का एक बच्चा कुएं में जा गिरा। उसे बचाने के लिए मां भी अपने 11 माह के बेटे सहित कुएं में कूद गई। अस्सी फीट गहरे इस कुएं में 40 फीट से ज्यादा पानी होने से फिल्हाल कुएं का पानी तुड़वाया जा रहा है। ऐसे में तीनों मां-बेटों में से कोई एक भी अब तक नहीं मिला है। उधर, इस घटना से रतनपुरा व आस-पास के गांवों में सनसनी फैल गई। पुलिस व ग्रामीण घटनास्थल पर जुटे हुये हैं। 
रायपुर थाना प्रभारी भागीरथ सिंह ने हलचल को बताया कि रतनपुरा निवासी किशन रैगर गुरुवार सुबह नौ बजे मजदूरी पर चला गया। इसके आधा घंटे बाद उसकी पत्नी सुखी भी साढ़े तीन साल के बेटे सांवरमल व 11 माह के बेटे गौतम के साथ खेत पर चली गई। 
पुलिस का कहना है कि खेत पर सुखी का ससुर भी था, जो कुछ दूर था। बुजुर्ग होने से उसे कम दिखाई देता है। सुखी खेत पर पहुंच कर कुएं पर कपड़े धोने लगी। उसका बेटा सांवरमल पास ही खेल रहा था, जबकि 11 माह का बेटा गौतम उसकी गोद में था। खेल-खेल में सांवरमल कुएं में जा गिरा। यह देखकर सुखी, बिना कुछ सोचे और समय गंवाये 11 माह के बेटे सहित सांवर को बचाने कुएं में जा कूदी। हादसे में तीनों मां-बेटे डूब गये। उधर, धमाके की आवाज सुनकर सुखी का ससुर व आस-पास के खेतों में काम कर रहे लोग वहां पहुंचे। 
ग्रामीणों ने कुएं के बाहर कपड़े पड़े देखे और हादसे की सूचना ग्रामीणों के साथ-साथ पुलिस को दी। सूचना पर थाना प्रभारी मय जाब्ता मौके पर पहुंच गये। रायपुर थाना प्रभारी भागीरथ सिंह ने ग्रामीणों की मदद से तीनों मां-बेटों की तलाश करवाई, लेकिन 80 फीट गहरे इस कुएं में 40 फीट से ज्यादा पानी होने से सफलता नहीं मिल पाई। ऐसे में पुलिस अब मोटर से कुएं का पानी तुड़वा रही है। उधर, इस घटना से गांव में सनसनी फैल गई। बड़ी संख्या में ग्रामीण कुएं पर जमा हैं। बताया गया है कि सुखी का पीहर राजसमंद जिले के खार कमेरी गांव में है। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !