किसानों द्वारा किए जा रहे भारत बंद का भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र सीटू ने किया समर्थन

 

भीलवाड़ा ! किसानों द्वारा दिल्ली में किए जा रहे धरना प्रदर्शन पर किसान बिलो को वापस लेने बिजली विधायक वापस लेने और श्रमिकों के कानूनों को बदलाव करने को लेकर आज केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आवाहन पर भारत बंद का कार्यक्रम रखा गया जिसके समर्थन में भीलवाड़ा में भारतीय ट्रेड यूनियन के केंद्र सीटू के द्वारा जिला कलेक्टर के बाहर प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया गया।
         प्रान्तीय प्रतिनिधि ओमप्रकाश देवानी ने बताया कि श्रमिकों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए मांग पत्र में नई बिजली विधायक संशोधन को वापस लेने, श्रम कानूनों को बदलाव को रोकने, सभी सरकारी व सार्वजनिक संस्थानों को निजीकरण से रोक लगाने, राजस्थान प्रदेश में अतिवृष्टि में जो किसानों का नुकसान हुआ है उसको अनुदान देने, पूरे देश में प्रदेश में किसानों व ग्रामीण गरीबों के समिति और बैंक में गबन किया जा रहा है उस पर रोक लगाने, सभी गरीब परिवारों को 10 किलो प्रतिमाह गेहूं देने, न्यूनतम वेतन 26000 लागू करने, नरेगा में 200 दिन का काम निश्चित किए जाने, देश में बढ़ रही महंगाई पर रोक लगाने, कमठाना सैनिकों के योजनाओं में शुभ शक्ति को चालू करने आदि कई मांगों को लेकर सीटू यूनियन द्वारा प्रदर्शन किया गया। साथ ही भीलवाड़ा इकाई द्वारा पुलिस विभाग में कर्मचारियों के साथ हो रहे वेतन वृद्धि के असंतुलन को सही करने और पुलिस प्रशासन में कर्मचारियों के साथ भेदभाव पूर्ण नीति पर रोक लगाने को लेकर मुख्यमंत्री के नाम अलग से ज्ञापन दिया गया।
         प्रदर्शन में जिला बिल्डिंग वर्क्स यूनियन के अध्यक्ष रतनलाल नेट, रामचंद्र बुनकर, महेंद्र सिंह गुर्जर, मंजू आचार्य, आशा विश्नोई, किरण आचार्य, महावीर सिंह, गणेश गहलोत, देव बिश्नोई, नरेश मराठा, जगदीश गुर्जर, अनीता देवी, कपिल वर्मा, पुलिस विभाग से रिटायर्ड कर्मचारी कुशालचंद, मोइनुद्दीन मेडिकल रिप्रेजेंट्स कर्मचारी साथी रामेश्वर, दिनेश देवपुरा, ललित दादी, सुभाष लड्ढा, टेक्सटाइल के श्रमिक भरत अग्रवाल, मांगीलाल, गहरी लाल सोनी, राधेश्याम सोनी, शिवराज, पारसी देवी आदि उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !