बागा का खेडा प्राइमरी स्कूल में शिक्षकों की कमी

 


रायला । बेहतरीन शिक्षा देने के सरकार भले ही लाखों दावे कर ले लेकिन इन दावों की धरातल पर पोल खुलती नजर आ रही है। सरेरी  के बागा का खेडा स्कूल में 2 अध्यापक के सहारे स्कूल  चल रही हैं। वही जहाँ पहले 5 अध्यापक का स्टाफ था वहां 3 अध्यापक को बीएलओ की जिम्मेदारी दे दी गई जिस कारण पीछे रहे दो अध्यापक के सहारे ही स्कूल  रामभरोसे चल रही है।

प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी के चलते अभिभावकों का शिक्षा विभाग व सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है। गाँव की स्कूल में 2 अध्यापक होने से बचो की तरफ पूरा ध्यान नही दिया जा सकता है वही स्कूल में करिब 200 विद्यार्थी अध्यनरत है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक