महंत परमहंस दास आज लेंगे सरयू में जल समाधि

 


अयोध्या। भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित की जाने को लेकर तपस्वी छावनी के महंत जगतगुरु परमहंस दास 2 अक्टूबर कल सरयू नदी में जलसमाधि लेंगे। इसके पूर्व पूरे देश में हिंदूवादी संगठनों के बीच अलख जगाने के लिए आज हिन्दू सनातन धर्म संसद का आयोजन किया जिसमें कई राज्यों के लोग शामिल हुए।

तपस्वी छावनी मंदिर पर बढ़ाई गई सुरक्षा

तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास के द्वारा हुए ऐलान को लेकर जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है। तपस्वी छावनी सहित महंत परमहंस दास की सुरक्षा को लेकर बड़ी संख्या में सुरक्षा के जवान तैनात कर दिए हैं। तो वही विभिन्न राज्यों से आए हिंदू संगठनों के लोग भी कल के इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अयोध्या में प्रवास कर रहे हैं।

पहले होगा पूजन फिर निकलेगी अंतिम यात्रा : परमहंस दास

महंत परमहंस दास ने कहा कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने की मांग को लेकर ऐलान किया है कि 2 अक्टूबर को दोपहर 12:00 बजे सरयू नदी में जल समाधि लेंगे लेकिन उसके पूर्व तपस्वी छावनी मंदिर पर सुबह 9:00 बजे महायज्ञ का आयोजन करेंगे उसके बाद बाजी बाजी के साथ सरयू नदी के लिए प्रस्थान करेंगे तो वही बात करते हुए बताया कि 16 अगस्त 1946 को भारत के सभी मुसलमानों ने कहा दो सिद्धांत को मानने वाले एक जगह नहीं रह सकते जिसको लेकर फरमान जारी होने के बाद लाखों हिंदुओं और सिखों की हत्या हुई थी। उसके बाद मुस्लिम समाज के लोग मौलाना और तरह-तरह के धर्मगुरु बन कर हिंदुओं को मुसलमान बनाने का षड्यंत्र कर रहे हैं। इन लोगों को हिंदुस्तान से प्रेम नहीं है इसलिए आज हिंदुत्व खतरे में आ गया है। यदि भारत हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं हुआ तो हिंदी हिंदू और हिंदुस्तान समाप्ति के कगार पर है इसलिए सनातन संस्कृति की रक्षा के लिए भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करना होगा इसलिए हमने यह घोषणा की है लेकिन यदि केंद्र सरकार बात को नहीं मानती है तो मैं अपने प्राणों को दोपहर 12:00 बजे जल समाधि लेते हुए आहुत करूंगा।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक