नई लाइन बिछाने के लिए गड्ढा करते वक्त पाईप लाइन टूटी,अब तक पानी के लिए तरस रहे लोग

 

मंगरोप (मुकेश खटीक) ! कस्बे में पेयजल आपूर्ति को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से नई पाईप लाइन बिछाने का कार्य चल रहा था।जिसकी खुदाई जेसीबी द्वारा की जा रही थी।ग्रामीणों ने बताया कि ठेकेदार कर्मियों की लापरवाही के चलते गांव की पेयजलापूर्ति की मुख्य पाईप लाइन क्षतिग्रस्त हो गयी है।सुबह करीब 9 बजे ठेकेदारकर्मी क्षतिग्रस्त पाइप लाइन की मरम्मत करने पहुच गए लेकिन उनके पास मरम्मत के लिए पर्याप्त संसाधन नही होने से अब तक कार्य अटक हुआ है।कस्बे में जलापूर्ति के लिए सभी मौहल्लों के लिए हर तीसरे दिन की समय सीमा निर्धारित कर रखी है।आज करीब पांच दिन बीत जाने के बाद भी करीब आधे गांव के लोग पानी के लिए तरस रहे है।तनीषा खटीक ने हलचल को बताया कि हमारे यहां करीब पांच दिन पूर्व नल में पानी आया था उसके बाद गुरुवार को जलापूर्ति की बारी थी।लेकिन सुबह उठने से लेकर स्कूल जाने तक करीब पचासों बार नल को चलाकर भी देखा लेकिन निराशा ही हाथ लगी।नहाने के लिए पानी की बात तो दूर पीने के पानी की घर मे एक बून्द नही बची है।पढ़ाई के लिए देरी होने के कारण गांव के बाहर माता के मण्ड से पानी लेकर आना पड़ा था।इस तरह की लापरवाही का खामियाजा सुबह जल्दी घर से जाने वाले कामगारों,नोकरी पेशा व स्कूल जाने वाले छात्र छात्राओ व अन्य ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है।   

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

शीतलाष्टमी की पूजा आज देर रात से, रंगोत्सव (festival of colors) कल लेकिन फैली है यह अफवाह ...!

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज