नई लाइन बिछाने के लिए गड्ढा करते वक्त पाईप लाइन टूटी,अब तक पानी के लिए तरस रहे लोग

 

मंगरोप (मुकेश खटीक) ! कस्बे में पेयजल आपूर्ति को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से नई पाईप लाइन बिछाने का कार्य चल रहा था।जिसकी खुदाई जेसीबी द्वारा की जा रही थी।ग्रामीणों ने बताया कि ठेकेदार कर्मियों की लापरवाही के चलते गांव की पेयजलापूर्ति की मुख्य पाईप लाइन क्षतिग्रस्त हो गयी है।सुबह करीब 9 बजे ठेकेदारकर्मी क्षतिग्रस्त पाइप लाइन की मरम्मत करने पहुच गए लेकिन उनके पास मरम्मत के लिए पर्याप्त संसाधन नही होने से अब तक कार्य अटक हुआ है।कस्बे में जलापूर्ति के लिए सभी मौहल्लों के लिए हर तीसरे दिन की समय सीमा निर्धारित कर रखी है।आज करीब पांच दिन बीत जाने के बाद भी करीब आधे गांव के लोग पानी के लिए तरस रहे है।तनीषा खटीक ने हलचल को बताया कि हमारे यहां करीब पांच दिन पूर्व नल में पानी आया था उसके बाद गुरुवार को जलापूर्ति की बारी थी।लेकिन सुबह उठने से लेकर स्कूल जाने तक करीब पचासों बार नल को चलाकर भी देखा लेकिन निराशा ही हाथ लगी।नहाने के लिए पानी की बात तो दूर पीने के पानी की घर मे एक बून्द नही बची है।पढ़ाई के लिए देरी होने के कारण गांव के बाहर माता के मण्ड से पानी लेकर आना पड़ा था।इस तरह की लापरवाही का खामियाजा सुबह जल्दी घर से जाने वाले कामगारों,नोकरी पेशा व स्कूल जाने वाले छात्र छात्राओ व अन्य ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है।   

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक