ईमानदारी

 

नमन-मगसम पटल 

          

ईमानदारी का हम क्या अचार डालेंगे,
पड़े अकेले किस-किस से फफुंद पालेंगे/

   इस पर चलना विरलों का,
   ईमान-धरम हो जाता है/
   इस जग में  चलना अब,
   खाण्डे धार कहाता है//

बेईमान की जय बोलेंगे,
ईमान फजीहत कर डालेंगे/
ईमानदारी का हम क्या अचार डालेंगे,
पड़े अकेले किस-किस से फफुंद पालेंगे//

   बेईमानी के सौ हथकण्डे,
   ईमान सड़क पर चलता है/
   बेईमान विलासी जीवन भोगे,
   ईमानदार हाथ मलता है//

सच्चाई फहरी धरम ध्वजा,
बेईमान को जेल में डालेंगे/
ईमानदारी का हम क्या अचार डालेंगे,
पड़े  अकेले किस-किस से फफुंद पालेंगे//

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक