कपास उत्पादन में अव्वल रहने पर भीलवाड़ा के 2 किसान मुंबई में सम्मानित

 


भीलवाड़ा(हलचल)
कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के 100वे वर्ष के उपलक्ष में मुंबई में आयोजित समारोह में देश के 6 किसानों को कपास की अधिक उपज लेने के लिए सम्मानित किया गया।
पी एन शर्मा पूर्व उपनिदेशक कृषि ने कहां कि भीलवाड़ा जिले के 2 किसान गोपाल सिंह गांव गुमानपुरा एवं हीरालाल खारोल गांव मदनपुरा को सर्वाधिक कपास की पैदावार क्रमशः 1186 एवं 1388 किलो लिंट प्रति हेक्टेयर लेने के लिए मुंबई अधिवेशन में सुश्री रूप राशि टैक्सटाइल कमिश्नर के हाथों सम्मानित किया गया। भारत की वर्तमान में कपास की औसत उपज 540 किलो प्रति हेक्टेयर है। राजस्थान की ओर से  गोपाल सिंह को ट्रॉफी देकर राजस्थान के गौरव को बढ़ाया।
शर्मा ने कहा संपूर्ण भारत में भीलवाड़ा जिला सर्वाधिक कपास की औसत उपज देने वाला जिला है। इस जिले में चल रही कपास परियोजना मैं विशेष रूप से छाछ गोमूत्र एवं जैविक कीटनाशक जो किसान स्वयं अपने खेत पर तैयार करता है खर्चों में कटौती के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। वेस्ट डी कंपोजर का प्रयोग किसानों को बहुत भा रहा है।
इस अधिवेशन की विशेषता यह रही की राजस्थानी ड्रेस में भीलवाड़ा जिले के किसानों को देखकर प्रतिनिधि गण एवं टैक्सटाइल कमिश्नर ने भी उनके साथ फोटो खिंचवाये।
मुंबई में राजस्थानी किसान अपने पहनावे के कारण आकर्षण का केंद्र रहे।
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना