चाकू व बंदूक से लैस एक दर्जन लोग आधीरात को दरवाजा तोड़ घर में घुसे, बुजुर्ग को किया अगवा, बोलेरो में की मारपीट, मरा समझ कर पटक गये, पुलिस ने दर्ज नहीं की रिपोर्ट

 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। आधी रात को  चाकू व बंदूक से लैस लोग दरवाजे तोड़कर मकान में घुस आये और कनपटी पर बंदूक लगाकर लाठियों से मारपीट की। बचाव में आई महिला को उठाकर नीचे पटक दिया। इतना हीं नहीं, आरोपित, पीडि़त बुजुर्ग को बोलेरो में अगवा कर ले गये और मारपीट करते रहे। बाद में अचेत बुजुर्ग को मरा समझ कर उसे एक मकान के बाहर पटक गये। यह आरोप लगाते हुये पीडि़त बुजुर्ग ने कोर्ट के इस्तगासे से गंगापुर थाने में केस दर्ज करवाया है। पीडि़त के आरोप है कि घटना 16 सितंबर की है और इसे लेकर उसने गंगापुर थाने में रिपोर्ट भी दी, लेकिन पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया तो उसे कोर्ट की शरण लेनी पड़ी। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, मेलूनी निवासी बालू 60 पुत्र लालु गुर्जर ने भंवरलाल पुत्र नारायण  गुर्जर, नारायण पुत्र चतरु गुर्जर, रुपेश पुत्र नारायण गुर्जर, सीमा रुपेश गुर्जर,  रतनी पत्नी नारायण   गुर्जर, इन्द्रा पत्नी भंवरलाल गुर्जर व 10-12 अन्य आरोपितों के खिलाफ इस्तगासे से गंगापुर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। 
परिवादी ने रिपोर्ट में बताया कि 16 सितंबर 2022 को रात्रि को वह, परिवार सहित अपने रिहायशी मकान मेलूनी मे सोये हुए थे। रात  करीब 1 बजे दो बोलेरो  में  भंवरलाल गुर्जर ने फोन कर के 10-12 गुण्डो को मेलूनी बुलाया । नारायण, रुपेश, सीमा, रतनी, इंद्रा व अन्य आरोपितों ने  भंवरलाल गुर्जर के साथ मिलकर हाथों में चाकु -बंदूक व लकडिय़ां लेकर परिवादी के  मकान के मैन गेट को तोड़कर  गालियां निकालते हुये मकान में घुस आये। आरोपितों ने परिवादी से कहा कि तूने मेरी बुआजी प्यारी, नानु को बहका कर उनसे हमारे विरुद्व दावा करवाया है । आरोपितों ने मकान मे बंधी सभी भंैसे खोल दी। परिवादी के साथ लाठियो से मारपीट कर कनपटी पर बंदूक लगा दी तथा  चाकु दिखाते हुए कहा कि चिल्लाया तो जान से मार देंगे ।
आरोपितों की चिल्लाने की आवाज सुनकर प्रेमी पत्नी हीरालाल गुर्जर  आई व बीच-बचाव करने लगी तो आरोपित भंवरलाल ने प्रेमी को उठाकर  जमीन पर पटक दिया।  रुपेश ने जान से मारने की नियत से प्रेमी का गला दबा दिया।  प्रेमी के हल्ला करने पर हीरालाल पुत्र भैराजी गुर्जर , परिवादी की पत्नी श्यामू व अन्य दोड़कर आये तो परिवादी बालू को जबरन बोलरो मे डालकर  अपहरण कर ले गये।  बोलेरो मे परिवादी के साथ मारपीट करते हुए कहा कि यह चिल्लाता है तो बंदुक की गोली  अन्दर डाल कर मार दो । परिवादी को भीलवाडा के पास ले गये फिर वह बेहोश हो गया तो  मरा समझकर गंगापुर लाये  और होश आने पर चार बजे  शिवलाल बलाई के मकान के बाहर बोलेरो से नीचे पटक कर कहा कि 10 दिन मे तेरी बुआ प्यारी , नानु द्वारा किये गये दावे को उठा लेना वरना  10 दिन बाद वापस आकर तूझे जबरन ले जाकर मार देंगे । परिवादी का आरोप है कि उसने 17 सितंबर 2022 को पुलिस थाना गंगापुर पर रिपोर्ट दी, लेकिन अब तक मुकदमा दर्ज नही किया । इसके चलते उसे कोर्ट की शरण लेकर यह रिपोर्ट पेश करनी पड़ी। पुलिस ने पीडि़त की ओर से कोर्ट से आये इस्तगासे से मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना