खाने के बाद 10 मिनट की वॉक क्यों है जरूरी, जानिए टहलने के फायदे

 

लाइफस्टाइल डेस्क। दोपहर का लंच हो या रात का डिनर खाना खाने के बाद सुस्ती तो आती ही है। अक्सर हम रात का खाना खाने के बाद सीधे बिस्तर पर चले जाते हैं, लेकिन आप जानते हैं खाते ही बिस्तर पर लेटने से आपकी सेहत पर कितना असर पड़ता है। खाने के बाद कुछ देर की वॉक से आपका पाचन दुरुस्त रहता है। अगर आप खाकर वॉक करते हैं तो आपके ब्लड में शुगर का स्तर मेनटेन रहता है, साथ ही आपका मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है। खाकर टहलने से आप मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से तंदुरुस्त रहते हैं। आइए जानते हैं कि खाने के बाद कितनी देर टहलना सेहत के लिए फायदेमंद है।  खाना खाने के बाद कितनी देर वॉक करना है जरूरी  खाना खाने के बाद अगर आप वॉक कर रहे हैं तो वॉक की गति पर जरूर ध्यान दें। आप वॉक तेज़ी से या भाग-भाग कर नहीं करें, ऐसे वॉक करने से आपको पेट दर्द की समस्या हो सकती है। आपका पेट भूल सकता है, इसलिए आप खाने के बाद धीमी चाल से वॉक करें। ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के बाद दस मिनट टहलने से आपकी ओवर ऑल सेहत ठीक रहेगी। सर्जिकल मास्क हवा से फैलने वाले बैक्टीरिया, कोरोना जैसे वायरस या अन्य कणों को 76 फीसदी तक रोक देता है।  कोरोना से बचाने में ज्यादा कारगर है ये सस्ता मास्क, रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा यह भी पढ़ें वॉक करने के फायदे  वज़न कंट्रोल रहेगा:  ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के बाद वॉक करने से आपका वज़न कंट्रोल रहेगा। आप खाते ही एक जगह बैठते है या फिर लेटते हैं तो आपका वज़न बढ़ता है। खाने के बाद वॉक मेटाबॉल्जिम को बूस्ट करती है, जो आपकी कैलोरी को बर्न करने में मदद करता है। वजन घटाने वालों के लिए खाने के बाद वॉक पर जाना बहुत फायदेमंद होता है।   पाचन को दुरुस्त करती है वॉक  खाने के बाद आप बाहर टहलने नहीं जा सकते तो घर में ही वॉक कर सकते हैं। हल्की वॉक आपके पाचन को दुरुस्त रखेगी।  शुगर कंट्रोल रहेगा:  खाने के बाद थोड़ी देर वॉक करने से ब्लड में शुगर का स्तर ठीक रहेगा। खाने के बाद ब्लड में शुगर का स्तर बढ़ जाता है, खासकर शुगर के मरीज़ों में तेज़ी से बढ़ता है। शुगर के मरीज़ खाते ही 10 मिनट वॉक जरूर करें।  गर्भवती महिलाओं में मार्निंग सिकनेस आम बात है। गर्भवती महिलाएं सेहतमंद रहने के लिए अपनी डाइट में जरूर शामिल करें फल यह भी पढ़ें तनाव कम होता है:  वॉक दिमागी सेहत को भी ठीक रखती है। वॉक करने से कोर्टिसोल, एड्रेनालाईन समेत तनाव वाले हार्मोन्स कम होते है। जब एक शख्स टहलने के लिए जाता है, तब शरीर एंडोर्फिन जारी करता है जो प्राकृतिक पेन किलर की तरह काम करता है। वॉक करने से मूड ठीक रहता है यह बात कई रिसर्च में साबित हो चुकी है।  खाने की क्रेविंग को कंट्रोल करती है वॉक:  वर्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन (WHO) ने पुष्टि की है कि कोविड-19 वायरस हवा से भी फैलता है। एक्सपर्ट्स से जानें, कोविड-19 की तीसरी लहर के बीच घर की साफ-सफाई पर ध्यान देना क्यों है जरूरी यह भी पढ़ें क्या आप भी उन लोगों में से हैं, जिन्हें रात को डिनर करने के बावजूद आधी रात को भूख लगती है। देर रात भूख लगती है तो डिनर के बाद टहलने की आदत डालें। वॉक करने से आपको संतुष्टि महसूस होगी और देर रात खाने की क्रेविंग नहीं होगी।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक