अब कोटड़ी के दिगंबर जैन मंदिर पर बदमाशों ने बोला धावा, 2 लाख की नकदी, 6 किलो चांदी के छत्र उड़ाये

 

भीलवाड़ा/ कोटड़ी बबलु पोखरना।  जिले में एक के बाद एक लगातार जैन मंदिर चोरों के निशाने पर है। मांडलगढ़, बिजौलियां के बाद अब कोटड़ी में चोरों ने शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर को निशाना बनाते हुये 2 लाख रुपये की नकदी और करीब 6 किलो चांदी के छत्र चुरा लिये। एक वैन व दो बाइक पर आये इन बदमाशों की संख्या 6 बताई गई है। वहीं वारदात सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई। उधर, इस वारदात से आक्रोशित जैन समाज के लोगों ने अपने प्रतिष्ठान भी बंद रखे हैं। 
मंदिर ट्रस्ट सूत्रों के अनुसार, कोटड़ी कस्बे के सदर बाजार में शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर स्थित है। रात करीब एक बजे एक वैन व दो बाइक से आधा दर्जन बदमाश इस मंदिर पर पहुंचे। बदमाशों ने मंदिर के गेट पर लगे अंडर लॉक को अंट लगाकर तोड़ दिया। इसके बाद मंदिर में प्रवेश कर चोरों ने तीनों मंजिल पर स्थित भगवान की मूर्तियों से चांदी के 29 छत्र चुरा लिये। इनका वजन करीब 6 किलो बताया जा रहा है। इसके अलावा बदमाशों ने मंदिर में रखा दानपात्र भी तोड दिया। दानपात्र से करीब 2 लाख रुपये की नकदी चुरा ली। करीब एक घंटे ये बदमाश मंदिर में रहे और वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों की पूरी करतूत मंदिर परिसर में लगे सीसी टीवी कैमरों में कैद हो गई। सभी बदमाश साफी से चेहेरे बांधे हुये थे। 
पूजा-अर्चना करने पहुंचा पुजारी आया सकते में
शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर पर शनिवार सुबह करीब 5 बजे पुजारी गोपाल पाराशर पूजा-अर्चना करने पहुंचे। उन्हें मंदिर के गेट का लॉक खुला मिला। वे, आगे बढ़कर मुख्य मंदिर तक पहुंचे तो दानपात्र टूटा हुआ और चांदी के छत्र गायब मिले। पाराशर यह सब देखकर सकते में आ गये। उन्होंने मंदिर ट्रस्ट और पुलिस को सूचना दी। 
तीन बदमाश घुसे मंदिर में एक, गेट पर व दो बाहर कर रहे थे निगरानी
सीसी टीवी फुटेज से पता चला कि आधा दर्जन बदमाशों में से तीन बदमाश गेट तोड़कर अंदर जा घुसे। इसके बाद दो बदमाश मंदिर के बाहर और एक मुख्य दरवाजे पर निगरानी करता रहा। 
वारदात के दौरान आया था गश्ती दल, लेकिन...
जानकारी मिली कि है कि बदमाश जब मंदिर में वारदात को अंजाम दे रहे थे, तभी कोटड़ी थाने का गश्ती पुलिस दल भी वहां आया था, लेकिन पुलिस को दूर से आता देखकर कुछ बदमाश सुरक्षित स्थान देखकर छिप गये, जबकि कुछ बदमाश लेट गये और सोने का नाटक करते रहे। पुलिस भी सब कुछ सामान्य देखकर लौट गई। इसके बाद बदमाश अपना काम कर निकल गये। 

बच गये दस लाख रुपये के चातुर्मास कलश
सूत्रों का कहना है कि वारदात के समय मंदिर में चातुर्मास कलश भी रखे थे, जिनकी कीमत करीब दस लाख रुपये है। चोर, इन कलश को नकली मानकर वहीं छोड़ गये। ऐसे में ये कीमती कलश चोरी होने से बच गये। 

विरोध में बंद रखे प्रतिष्ठान
शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में हुई बड़ी चोरी को लेकर समाज में रोष व्याप्त है। समाज के लोगों ने इस वारदात के विरोध में कस्बे में स्थित अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। 
बेगूं, मांडलगढ़, बिजौलियां में हो चुकी वारदात
जैन मंदिरों में चोरी का सिलसिला पिछले एक-डेढ़ माह से चल रहा है। सबसे पहले बेगूं थाना इलाके में बड़ी वारदात हुई थी। इसके बाद मांडलगढ़ किले  पर चोरों ने धावा बोला। तीसरी वारदात मांडलगढ़ कस्बे में हुई। इसके बाद बदमाशों ने बिजौलियां में भी ऐसी ही वारदात को अंजाम दिया। खास बात यह है कि इनमें से कोई एक भी वारदात पुलिस अब तक ट्रेस नहीं कर पाई है। 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !